गुर्जर समाज नहीं करेगा कांग्रेस की 'संकल्प रैली' का विरोध: किरोडी बैंसला

यह निर्णय कर्नल किरोडी बैंसला ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट का संदेश लेकर आये कांग्रेस का प्रदेश महासचिव जीआर खटाना से बातचीत के बाद लिया है. 

गुर्जर समाज नहीं करेगा कांग्रेस की 'संकल्प रैली' का विरोध: किरोडी बैंसला
गुर्जरों द्वारा विरोध वापस लेने के निर्णय के बाद कांग्रेस ने राहत की सांस ली है.

राकेश अग्रवाल/हिण्डौन सिटी: गुर्जर समाज अब कांग्रेस की 11 सितंबर को करौली में आयोजित होने वाली संकल्प यात्रा रैली का विरोध नहीं करेगा. यह निर्णय कर्नल किरोडी बैंसला ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट का संदेश लेकर आये कांग्रेस का प्रदेश महासचिव जीआर खटाना से बातचीत के बाद लिया है. खटाना ने बैंसला व गुर्जर नेताओं को कांग्रेस की ओर से आश्वस्त किया कि यदि चुनावों के बाद प्रदेश में उनकी सरकार बनती है तो गुर्जरों के आरक्षण मामले का संवैधानिक तरीके से हल निकाला जायेगा.

खटाना ने कहा कि कांग्रेस गुर्जरों को आरक्षण देने के लिए प्रतिबद्ध है. कल करौली में होने वाली रैली में इस मामले पर मंच से सचिन पायलट स्वयं पार्टी की ओर से घोषणा करेंगे. गुर्जरों द्वारा विरोध वापस लेने के निर्णय के बाद कांग्रेस ने राहत की सांस ली है.

हिण्डौन सिटी स्थित अपने आवास पर कर्नल किरोडी बैंसला ने आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि संकल्प रैली का विरोध करने का उनका कोई इरादा नहीं था. लेकिन आगामी दिनों में चुनाव आने वाले हैं, ऐसे में गुर्जरों को हक है कि वो कांग्रेस से पूछे की चुनावों बाद आरक्षण मसले पर अपनी क्या राय रखती है. इसी कारण से गुर्जर समाज कांग्रेस से सवाल जबाब करना चाहता था. 

लेकिन अब कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पायलट का संदेश लेकर खटाना आये हैं जिन्होने आरक्षण मामले पर कांग्रेस की ओर से आश्वासन दिया है. इसलिए अब गुर्जर रैली का विरोध नहीं करेंगे. हांलाकि जब उनसे पूछा कि आगामी चुनावों में क्या गुर्जर समाज कांग्रेस के पक्ष में मतदान करेगा तो उन्होने कहा कि इसका अभी कोई निर्णय नहीं लिया है.

वहीं खटाना ने कहा कि पूर्व में कांग्रेस सरकार ने गुर्जरों को 5 प्रतिशत आरक्षण दिया था लेकिन मामला कोर्ट में अटक गया है. अब कांग्रेस में सत्ता में आई तो इस मामले का संवैधानिक तरीके हल निकाला जायेगा. गौरतलब है कि दो दिन पूर्व कर्नल बैंसला ने गुर्जरों के आरक्षण मामले पर रूख स्पष्ट नहीं करने पर कांग्रेस की संकल्प रैली का विरोध करने की चेतावनी दी थी. बता दें कि गुर्जर समाज पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग कर रहा है.