क्या राजस्थान में अमित शाह की 62 जन सभाओं से बदलेगा वोटरों का मूड?

भाजपा सूत्रों के मुताबिक पांच राज्यों में शाह अब तक करीब 170 जन सभाओं का हिस्सा बने हैं और यह संख्या और बढ़ सकती है

क्या राजस्थान में अमित शाह की 62 जन सभाओं से बदलेगा वोटरों का मूड?
अमित शाह ने एक दिसंबर तक पांच राज्यों में 63 दिन तक चुनाव प्रचार किया.

नयी दिल्ली: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राजस्थान में अपनी पार्टी के प्रचार की कमान संभालते हुए रिकॉर्ड तोड़ रैलियां कर रहे हैं. राज्य में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर है. हाल में जिन तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न हुए हैं और तेलंगाना जहां राजस्थान के साथ ही चुनाव होने हैं, उसमें से शाह ने सबसे ज्यादा 62 जन कार्यक्रम राजस्थान में ही आयोजित किए हैं.

भाजपा सूत्रों के मुताबिक पांच राज्यों में शाह अब तक करीब 170 जन सभाओं का हिस्सा बने हैं और यह संख्या और बढ़ सकती है क्योंकि तेलंगाना एवं राजस्थान में चुनाव प्रचार जोरों पर हैं जहां सात दिसंबर को चुनाव होने हैं. मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में चुनाव पहले ही संपन्न हो चुके हैं. पांचों राज्यों में हुए चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.

भाजपा के मीडिया प्रमुख और राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी ने कहा, 'अमित शाह ने सभी पांच राज्यों में अत्याधिक चुनाव प्रचार किया है. तेलंगाना और मिजोरम समेत अन्य राज्यों में उन्हें लोगों की जो प्रतिक्रिया हासिल हुई है वह पार्टी के विस्तार को रेखांकित करती है और संकेत देती है कि परिणाम क्या होने वाले हैं'.

उन्होंने कहा कि राजस्थान में चुनाव पूर्व हुए कई सर्वेक्षणों में कांग्रेस को भाजपा पर बढ़त मिलती हुई दिखायी गयी है लेकिन शाह की रैलियों में लोगों का बड़ा हुजूम उमड़ा. बलूनी ने कहा, 'यह दिखाता है कि राज्य में हवा का रुख किस तरफ है'. भाजपा द्वारा एकत्रित आंकड़ों के मुताबिक शाह ने एक दिसंबर तक पांच राज्यों में 63 दिन तक चुनाव प्रचार किया. उन्होंने राजस्थान में 19, मध्यप्रदेश में 18, छत्तीसगढ़ में 14, तेलंगाना में 10 और मिजोरम में दो दिन गुजारे.

वहीं राजस्थान में पीएम मोदी की सभाओं की बात करें तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभाओं की मांग चुनावी राज्यों में लगातार बनी हुई है. इस बार राजस्थान में भी ऐसा ही देखने को मिला. हालांकि मोदी के दौरे प्रदेश में 4 दिसंबर तक ही थे लेकिन दौसा और पाली जिले की बीजेपी यूनिट की मांग पर मोदी के दौरों की संख्या बढ़ाई गई है. अब प्रधानमंत्री 5 दिसंबर के दिन भी राजस्थान के दौरे पर होंगे.

(इनपुट-भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close