कांग्रेस पार्टी राजस्थान में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी: सचिन पायलट

पायलट ने दावा किया कि लोग भाजपा सरकार के कुशासन से परेशान हैं और बदलाव चाहते हैं

 कांग्रेस पार्टी राजस्थान में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाएगी: सचिन पायलट
राज्य के 200 विधानसभा सीटों में से 199 सीटों पर सात दिसम्बर को मतदान होगा.

जयपुर: प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी-कांग्रेस का प्रचार अंतिम दिन तक अपनी उफान पर रहा. दोनों ही पार्टियों के नेताओं ने जमकर एक दूसरे पर राजनीतिक हमले किए. इसी क्रम में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने बुधवार को विश्वास जताया कि उनकी पार्टी राजस्थान में पर्याप्त बहुमत से सरकार बना लेगी. उन्होंने दावा किया कि लोग भाजपा सरकार के कुशासन से परेशान हैं.

टोंक कस्बे में संवाददाताओं से बातचीत में पायलट ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि उनकी पार्टी पर्याप्त बहुमत के साथ सरकार बनायेगी. उन्होंने कहा कि इस तरह की सूचना है कि भाजपा 50 सीटों के आंकडे़ को भी पार नहीं कर पायेगी. उन्होंने कहा कि लोग भाजपा के कुशासन से परेशान हैं और बदलाव चाहते हैं.

पायलट ने कहा कि जो भाजपा की रणनीति रही उसमें वो कामयाब नहीं हो पाए. जाति धर्म से ऊपर उठकर लोग विकास को वोट कर रहे है. योगी, मोदी, शाह के टोंक में नहीं आने के सवाल पर पायलट ने कहा कि बीजेपी के तमाम नेता प्रचार कर रहे है. शायद उनकों लगा है कि टोंक में भाजपा फाइट में नहीं है. कल वसुंधरा राजे और गडकरी जी आए थे. दो दो मिनट भाषण दिया. लेकिन कुछ खास नहीं कर पाए.

भाजपा को नसीहत देते हुए पायलट ने कहा कि जाति-धर्म को लेकर व्यक्ति में द्वेश की भावना नहीं होनी चाहिए. सिंद्धातों पर चुनाव लड़े. किसी को अच्छा बुरा बता कर चुनाव नहीं जीत सकते. भाजपा के 180 प्लस से जीत के दावे पर पायलट ने कहा कि मैं दावे नहीं करता है, लेकिन छत्तीसगढ, मध्यप्रदेश और राजस्थान तीनों राज्यों में मिलाकर भी 180 सीटे नहीं आने वाली है. इससे ज्यादा इम्प्रेक्टिल बात मेंने कभी नहीं सुनी. 

वहीं टोंक के कांग्रेस के स्टार प्रचारकों पर पायलट ने कहा 11 दिसम्बर को सब पता चल जाएगा. कांग्रेस पार्टी कार्यक्रताओं के दम पर चुनाव लड़ रहे है. मुझे विश्वास है कि हम ऐतिहासिक मतो से जितेंगे. हम तो किसान, बेरोजगारी, मंहगाई के मुद्द पर चुनाव लाड़ना चाहते है. लेकिन भाजपा हिंदू मुस्लमान, रामंदिर, मस्जिद के मुद्दों पर चुनाव लड़ना चाहती है. लोगों को सोचना चाहिए.

बता दें कि टोंक से राजस्थान के यातायात मंत्री यूनुस खान भाजपा प्रत्याशी हैं. वसुंधरा राजे सरकार में कद्दावर मंत्री रहे युनुस खान इस समय डीडवाना से विधायक हैं. खान को बीजेपी ने 1998 में पहली बार डीडवाना से मैदान में उतारा था. हालांकि वह अपना पहला चुनाव हार गए थे. 2003 में बीजेपी ने उन पर फिर भरोसा जताया. खान पार्टी के भरोसे पर खरे उतरे और कांग्रेस के रूपा राम डूडी को हराकर पहली बार विधानसभा पहुंचे. हालांकि 2008 में वह रूपा राम डूडी से चुनाव हार गए लेकिन 2013 में फिर से इस सीट पर कमल खिला दिया. 

गौरतलब है कि 200 विधानसभा सीटों में से 199 सीटों पर सात दिसम्बर को मतदान होगा. चुनाव आयोग ने अलवर जिले की रामगढ़ सीट पर बसपा उम्मीदवार लक्ष्मण सिंह के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिया. चुनाव के परिणाम 11 तारीख को परिणाम आएंगे. अब देखना ये है कि जनता किस दल के हाथों में राजस्थान की कमान सौंपती है. 

(इनपुट-भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close