राजस्थान चुनाव: 100 प्रतिशत वोटिंग के लिए EC की बड़ी पहल, दिव्यांगों के लिए कर रही खास व्यवस्थाएं

बाड़मेर निर्वाचन विभाग ने जिले के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से जिले भर के दिव्यांग मतदाताओं की सूची मांग ली है और इसी को आधार बनाकर मतदान वाले दिन उन्हें लाने के लिए वाहनों की व्यवस्था कर रहा है.

राजस्थान चुनाव: 100 प्रतिशत वोटिंग के लिए EC की बड़ी पहल, दिव्यांगों के लिए कर रही खास व्यवस्थाएं
फाइल फोटो

बाड़मेर: राजस्थान के विधानसभा चुनावों के रण में कॉंग्रेस, भाजपा और तीसरे मोर्चे के अलावा कोई और भी है जो चुनावी मैदान में डटा हुआ है और वह है निर्वाचन विभाग. राजस्थान निर्वाचन विभाग ने अपनी तैयारियों को लेकर पूरा खाका तैयार कर लिया है. विभाग इस बार चुनावो में दिव्यांग मतदाताओं को बड़ी सहूलियत देने जा रहा है. निर्वाचन विभाग जहां मतदान केंद्रों पर दिव्यांग जनों के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था कर रहा है, वहीं नवाचार के रूप में दिव्यांग जनों के घर से उन्हें मतदान केंद्र तक लाने के लिए वाहनों की व्यवस्था कर रहा है. 

बाड़मेर निर्वाचन विभाग ने जिले के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से जिले भर के दिव्यांग मतदाताओं की सूची मांग ली है और इसी को आधार बनाकर मतदान वाले दिन उन्हें लाने के लिए वाहनों की व्यवस्था कर रहा है. दिव्यांग नरसिंगराम जीनगर के मुताबित इस नवाचार से दिव्यांगों के मतदान का प्रतिशत बढ़ेगा. उनके मुताबित निर्वाचन विभाग ने जो नई सुविधाएं बढ़ाई है उससे दिव्यांग मतदाताओं को आसानी होगी अपने मताधिकार के प्रयोग में.

राजस्थान में बाड़मेर में सर्वाधिक 7,371 दिव्यांग मतदाता है. वहीं इस जिले में 254 ऐसे मतदान केंद्र है जहां 15 से ज्यादा दिव्यांग मतदाता है. 277 मतदान केंद्रों पर 10 से अधिक दिव्यांग मतदाता हैं तो 475 मतदान केंद्रों पर 6 से 10 दिव्यांग मतदाता है. बाड़मेर में जिला निर्वाचन शाखा ने सभी दिव्यांग मतदाताओं को चिन्हित कर अपनी कार्ययोजना बना दी है. आंकड़ो पर गौर करे तो बाड़मेर विधानसभा में 570, शिव में 911, बायतु में 1080 , पचपदरा में 1221, सिवाना में 1233, गुढ़ामालानी में 1520 और चौहटन में 814 दिव्यांग मतदाता है. बाड़मेर के जिला निर्वाचन अधिकारी शिव प्रसाद मदन नकाते के मुताबित शत प्रतिशत मतदान के साथ साथ मतदाताओं को सहूलियत देने के लिए विभाग कटिबद्ध है. दिव्यांग मतदाताओं को किसी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए जिला निर्वाचन विभाग कई नवाचार कर रहा है.

एक तरफ जहां निर्वाचन विभाग आदर्श आचार सहिता और आदर्श चुनाव को लेकर जी जान से जुटा है वहीं इस बार किए जा रहे नवाचारों के चलते हर मतदाता को ना केवल पोलिंग बूथ तक पहुंचने में आसानी होगी साथ ही मतदाताओं को अपनी पसंद के चुनाव का अधिकार बिना किसी परेशानी के मिल गया है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close