राजस्थान चुनाव में इस मुद्दे के दम पर कांग्रेस को चित करेगी BJP

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के असंतुष्ट विधायक घनश्याम तिवाडी ने गुर्जरों समेत पांच जातियों को ओबीसी में दिये गये आरक्षण के मुद्दे पर अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि आरक्षण विधेयक का यही हश्र होना था और आने वाले चुनाव में यही सबसे बड़ा मुद्दा होगा. 

ज़ी न्यूज़ डेस्क ज़ी न्यूज़ डेस्क | Updated: Nov 11, 2017, 12:41 AM IST
राजस्थान चुनाव में इस मुद्दे के दम पर कांग्रेस को चित करेगी BJP
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के असंतुष्ट विधायक घनश्याम तिवाडी ने गुर्जरों समेत पांच जातियों को ओबीसी में दिये गये आरक्षण के मुद्दे पर अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि आरक्षण विधेयक का यही हश्र होना था और आने वाले चुनाव में यही सबसे बड़ा मुद्दा होगा. तिवाडी ने अपने निवास पर संवाददाताओं से कहा, 'ओबीसी आरक्षण विधेयक पर विधानसभा में चर्चा के दौरान ही मैंने विरोध करते हुए न्यायालय में नहीं टिकने की बात कहीं थी लेकिन सरकार ने जानबुझकर ध्यान नहीं दिया.' उन्होंने कहा कि सरकार को आरक्षण के मुद्दे पर अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए.

राजस्थान विधानसभा में गुर्जर समेत पांच जातियों को ओबीसी आरक्षण को 21 से बढ़ाकर 26 करने पर राजस्थान उच्च न्यायालय ने कल रोक लगा दी थी. हालांकि यह अभी कानून भी नहीं बना था.

दीनदयाल वाहिनी के संयोजक एवं पूर्व शिक्षा मंत्री तिवाडी ने कहा, ' मैं 12 नवम्बर को सीकर में आयोजित एक रैली में राजनीतिक रणनीति की घोषणा करूंगा. प्रदेशवासियों का विश्वास राज्य सरकार से उठ चुका है और सरकार सदन के माध्यम से प्रदेशवासियों को गुमराह कर रही है.' गौरतलब है कि तिवाडी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से कथित विवाद के कारण लम्बे समय से सरकार को सदन में और सदन के बाहर घेर रहे है.
इनपुट: भाषा