राजस्थान बीजेपी ने किया कार्यकारिणी का विस्तार,संघ से जुड़े लोगों को दी तरजीह

पार्टी से जुड़े लोगो का मानना है कि ये नवनियुक्त बीजेपी पदाधिकारी वैचारिक रूप से पार्टी को मजबूत करने में सहायक होंगे.

राजस्थान बीजेपी ने किया कार्यकारिणी का विस्तार,संघ से जुड़े लोगों को दी तरजीह
मदन लाल सैनी ने अपनी टीम में संघ से नजदीकी रखने वाले नेताओं को जगह दी(फाइल फोटो)

जयपुर/नई दिल्ली: राजस्थान बीजेपी ने अपने संगठन में कुछ नए लोगों को शामिल किया है. मदन लाल सैनी की इस टीम में शामिल इन लोगों के चयन में संघ का साफ प्रभाव दिखता है. इस विस्तार में प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी ने राजस्थान बीजेपी में 3 उपाध्यक्ष,दो सचिव ,दो प्रवक्ता और राज्य कार्यकारणी में 4 सदस्यों को भी नियुक्त किया है. 

इस बार सैनी ने इस विस्तार में वैसे लोगों को प्राथमिकता दी है, जिन्होंने संघ के साथ लम्बे समय तक काम किया है. पार्टी से जुड़े लोगो का मानना है कि ये नवनियुक्त बीजेपी पदाधिकारी वैचारिक रूप से पार्टी को मजबूत करने में सहायक होंगे. 

वैसे इस विस्तार में सैनी की टीम में शामिल इन लोगों को लम्बे समय से राजस्थान बीजेपी में नजरअंदाज किया गया था . बीजेपी के प्रवक्ता मुकेश पारीक बताते हैं कि,'ये कार्यकर्ता लम्बे समय से पार्टी के लिए काम तो कर रहे हैं. लेकिन अब तक उन्हें कोई भी पद पार्टी संगठन में नहीं मिला था.' 

पार्टी से जुड़े एक नेता बातचीत में बताते हैं कि संघ और पार्टी से जुड़े इन पुराने कार्यकर्ताओं को राजस्थान में काम करने का लम्बा अनुभव रहा है. ये विधानसभा चुनाव के दौरान रणनीति बनाने से लेकर कार्यकर्ताओं के समन्वय का भी काम बखुबी करेंगे.
 
माना जा रहा है कि राजस्थान बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष बने सैनी ने भी लम्बे समय तक आरएसएस के साथ काम किया है. अध्यक्ष बनने के बाद सैनी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से दिल्ली में जा कर मुलाक़ात भी की थी और राजस्थान बीजेपी में लम्बे समय तक नजरअंदाज किये गए कार्यकर्ताओं को तरजीह देने और उन्हें पार्टी में जगह देने के लिए भी कहा था.

वैसे सैनी की टीम में शामिल कई लोगों को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे कतई पसंद नहीं करती हैं. प्रदेश प्रवक्ता बनाए गए बारन के मदन दिलावर पूर्व में राजस्थान सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं और उनकी आरएसएस से काफी नजदीक माना जाता है. लेकिन पिछले वसुंधरा सरकार के कार्यकाल के दौरान दिलावर ने उनपर भ्रष्टाचार के कई आरोप भी मढ़े थे.

सैनी की टीम में शामिल दूसरे प्रवक्ता ओम सारस्वत का भी संघ से काफी जुड़ाव है. सारस्वत राजस्थान सरकार के पूर्व मंत्री और चूरू बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं.  

इनके अलावा नागौर के मोहनराम चौधरी, डूंगरपुर के दिग्गज नेता कनकमल कटारा और पाली के पूर्व सांसद पुष्प जैन को पार्टी ने उपाध्यक्ष नियुक्त किया है. वहीं छग्गन महौर और अशोक चंडालिया को राज्य बीजेपी में सचिव नियुक्त किया गया है. 

प्रदेश अध्यक्ष सैनी ने अलवर के बीजेपी जिलाध्यक्ष धर्मवीर शर्मा को हटाकर संजय शर्मा को जिलाध्यक्ष बनाया है. वहीं भीलवाड़ा के जिलाध्यक्ष दामोदर अग्रवाल की जगह लक्ष्मीनारायण दाद को इसकी जिम्मेवारी सौंपी गई है. अलवर और भीलवाड़ा के अलावा दो अन्य जिलाध्यक्षों की जगह नए जिलाध्यक्ष नियुक्त किया गया है. हटाए गए जिलाध्यक्षों को पार्टी की राज्य कार्यकारिणी में जगह मिली है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close