कोटा: 10 हजार रुपयों के लिए हिस्ट्रीशीटर ने की युवक की हत्या, पुलिस ने किया गिरफ्तार

युवक घर नहीं पहुंचा तो पिता ने रेलवे कॉलोनी थाने में अपने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई. जिसके बाद पुलिस ने भी मामले की जांच शुरू कर दी. 

कोटा: 10 हजार रुपयों के लिए हिस्ट्रीशीटर ने की युवक की हत्या, पुलिस ने किया गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोटा: राजस्थान के कोटा में एक हिस्ट्रीशीटर ने महज 10 हजार रुपये के लिए एक 24 वर्षीय युवक की जान ले ली. हिस्ट्रीशीटर को जब युवक उसके 10 हजार रुपये नहीं लौटा पाया तो उसने पहले युवक का अपहरण कर पीट पीट कर उसकी जान ले ली. जिसके बाद अपने गुनाह को छुपाने के लिए उनसे अपने ही धनिये के खेत में ही उसे जला डाला. जिसके बाद बची हुई हड्डियों के अवशेष को उसने अपने ही खेत में गाड़ दिया. 

जब युवक घर नहीं पहुंचा तो पिता ने रेलवे कॉलोनी थाने में अपने बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई. जिसके बाद पुलिस ने भी मामले की जांच शुरू कर दी. पिता को जब बेटे की हत्या किए जाने की आशंका हुई तो उसने कोटा पुलिस अधीक्षक के सामने गुहार लगाई. जिस पर जब अनुसन्धान किया गया तो पता चला कि मृतक महेंद्र ने बारां अटरू के एक हिस्ट्रीशीटर रामप्रसाद से अपनी पत्नी के मंगलसूत्र को गिरवी रखकर 10 हजार रूपये उधार लिए थे. जिसे वह वापस मांग रहा था. 

महेंद्र की पत्नी ने रामप्रसाद को अपना मंगलसूत्र न लौटाने पर झूठे केस में फंसाने की धमकी दी थी. जिसके बाद से ही रामप्रसाद ने महेन्द्र की हत्या की साजिश रच ली थी और तय घटनाक्रम के अनुसार महेंद्र को अटरू के चारडाना स्तिथ अपने खेत पर बुला लिया. जहां रामप्रसाद ने अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर पहले तो लाठियों से पीट पीट कर महेंद्र को मौत के घाट उतार दिया और फिर उसे अपने खेत पर धनिये की फसल में जला दिया.

हालांकि, पिता की दी गई रिपोर्ट के आधार पर टेक्निकल इन्वेस्टिगेशन शुरू किया गया और मामले का सनसनीखेज काला सच सामने आ गया. जिस पर कार्यवाही करते हुए कोटा की रेलवे कॉलोनी पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर रामप्रसाद को अरेस्ट कर लिया है. हिस्ट्रीशीटर रामप्रसाद पर कुल 31 मामले दर्ज है जिसमे हत्या, लूट जैसे संगीन मामले है. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close