राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018: युवा उद्यमियों से बोले राहुल गांधी, 'परिवार पर हमलों से हुआ मजबूत'

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान के जयपुर में 200 युवा उद्यमियों के बीच भी अपने सपनों और संघर्ष को साझा किया. 

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018: युवा उद्यमियों से बोले राहुल गांधी, 'परिवार पर हमलों से हुआ मजबूत'
राहुल गांधी के संवाद कार्यक्रम से मीडिया को दूर रखा गया.

जयपुर/अंकित तिवाड़ी: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान के जयपुर में 200 युवा उद्यमियों के बीच भी अपने सपनों और संघर्ष को साझा किया. यंग प्रोफेशनल्स के साथ संवाद करते हुए राहुल ने गांधी परिवार के साथ हुए हादसों के बारे में बोलते हुए कहा कि इन हमलों ने उन्हें मजबूत बनाया और देश सेवा के लिए डटे रहने का जज्बा बनाए रखा. कार्यक्रम में राहुल ने प्रदेश के नवोदित उद्यमियों से देश को आर्थिक तरक्की की ओर ले जाने के सुझाव पूछे. उन्होंने युवा कारोबारियों से दो घंटे तक संवाद किया.

प्रदेश में शिक्षा और स्वास्थ्य पर कांग्रेस देगी ध्यान 
राहुल ने कहा कि यदि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार आती है, तो सभी बिंदुओं पर अमल किया जाएगा. उन्होंने सबको साथ ले चलने की बात कही. उन्होंने कहा कि नवोदित उद्यमियों को स्वास्थ्य और शिक्षा दो मसलों पर गंभीरता से काम करने की जरुरत हैं. दोनों सेवाओं में गरीब और अमीर की सर्विस का फर्क कम हो ऐसा प्लान बनाकर नवोदित उ‌द्यमियों को काम करना चाहिए. अगर कांग्रेस की सरकार बनती हैं, तो उनकी प्राथमिकता में दोनों सेक्टर होंगे. 

परिवार की बातकर भावुक हुए राहुल गांधी
राहुल गांधी के संबोधन में भावुक पहलू भी आया जब उन्होंने परिवार पर हुए हमलों का जिक्र किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'जिनके साथ बैंडमिंटन खेला उन्होंने ही परिवार पर अटैक किया. ऐसे हादसों ने उन्हें मजबूत बनाया है, इसी तरह से देश सेवा के लिए डटे रहने का जज्बा मैंने बनाए रखा.'

युवाओं को भाया कांग्रेस अध्यक्ष का कॉन्फिडेंट लुक
राहुल गांधी के संवाद कार्यक्रम से मीडिया को दूर रखा गया. लेकिन राहुल गांधी का कॉन्फिडेंस पूरे कार्यक्रम में काबिले तारीफ रहा. कार्यक्रम में सवालों का जवाब सहजता और गंभीरता से देकर युवा उद्यमियों को लुभाने में राहुल कामयाब रहे. कई प्रतिभागियों का तो इस सत्र के बाद राहुल गांधी के प्रति नजरिया भी बदला. कांग्रेस की राहुल गांधी के जरिए यह पहल कितना युवाओं को मोहित कर सकती हैं यह राजनीतिक लिहाज से चुनावी नतीजे ही तय करेंगे. लेकिन इतना जरुर हैं ऐसे कार्यक्रम राहुल गांधी की इमेज बिल्डिंग कर लोकप्रियता के ग्राफ को बढ़ा सकते हैं. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close