राजस्थान: सगे भाइयों में जमीनी विवाद को लेकर खूनी संघर्ष, एक की मौत

दोनों तरफ से करीब आधे घंटे तक चले लाठी भाटा जंग में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर हथियारों से फायरिंग कर दी

राजस्थान: सगे भाइयों में जमीनी विवाद को लेकर खूनी संघर्ष, एक की मौत
इलाज के लिए बाहर ले जाते समय एक युवक ने रास्ते मेंही दम तोड़ दिया

जयपुर: धौलपुर जिले के कंचनपुर थाना इलाके के गांव छिंगा का अड्डा में दो सगे भाइयों के परिवारों में पुराने जमीनी विवाद को लेकर खूनी संघर्ष हो गया. दोनों तरफ से करीब आधे घंटे तक चले लाठी भाटा जंग में एक पक्ष ने दूसरे पक्ष पर हथियारों से फायरिंग कर दी. फायरिंग के दौरान गोली लगने से तीन युवक गंभीर रूप से घायल हो गए. 

घायलों को परिजनों ने पुलिस की मदद से बाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया, जहां तीनों की बेहद नाजुक हालत होने पर चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार देकर जिला अस्पताल रेफर कर दिया. जिला अस्पताल से तीनों घायलों को हायर सेंटर रेफर कर दिया लेकिन रास्ते में एक युवक ने दम तोड़ दिया.

जानकारी के मुताबिक कंचनपुर थाना इलाके के गांव छिंगा का अड्डा निवासी मानसिंह गुर्जर और बचन सिंह गुर्जर दोनों सगे भाई है. दोनों भाइयों में पुश्तैनी जमीनी विवाद को लेकर रंजिश चली आ रही है. मामला पूर्वजों की संपत्ति और खेतों के बंटवारे का बताया जा रहा है. जिसमें दोनों पक्षों के लोग कई बार झगड़ा कर आमने सामने हो चुके हैं.

वहीं खबरों के मुताबिक गुरूवार को देर रात पुराने विवाद को लेकर दोनों पक्ष फिर से आमने-सामने हो गए. झगड़े की शुरुआत तू तू मैं मैं से हुई उसके बाद दोनों पक्ष एक दूसरे से गाली गलौज करने लगे. देखते ही देखते झगड़े ने बड़ा रूप ले लिया और दोनों पक्ष लाठी डंडे हथियारों और सरियों से लैस होकर आमने-सामने हो गए. दोनों तरफ से करीब आधे घंटे खूनी संघर्ष चला. जिसमें बचन सिंह पक्ष के देशराज पुत्र बचन सिंह 45 वर्ष देवेन्द्र पुत्र बचन सिंह 38 वर्ष और सोनू पुत्र रामवीर 42 वर्ष को गोली लगने से  घायल हो गए.

तीनों घायलों को परिजनों ने कंचनपुर थाना पुलिस को सूचित कर नाजुक अवस्था में बाड़ी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती कराया. जहां देशराज के पेट में और देवेन्द्र के माथे पर गोली लगी है. वहीं सोनू की भी गोली लगने से स्थिति काफी दयनीय बनी हुई है. बाड़ी सीएचसी पर तैनात चिकित्सक सचिन सिंघल ने तीनों घायलों को प्राथमिक उपचार देकर जिला अस्पताल रेफर कर दिया. परिजनों ने घायलों को जिला अस्पताल के ट्रॉमा वार्ड में भर्ती कराया. जहां तीनों की हालत बिगड़ने पर जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने उच्च उपचार के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया है. लेकिन इलाज के लिए बाहर ले जाते समय देशराज ने रास्ते में दम तोड़ दिया.