राजस्थान चुनाव: बीजेपी को हराने की तैयारी में जुटी कांग्रेस की नई योजना, बनाया रिपोर्ट कार्ड!

कांग्रेस की प्लानिंग है कि जमीनी स्तर पर और सोशल मीडिया दोनों पर ही सरकारी इन सभी मुद्दों के आधार पर कैंपेनिंग चलाई जा सके ताकि भारतीय जनता पार्टी की साइबर योद्धाओं की फौज को उनकी भाषा में जवाब दिया जा सके.

राजस्थान चुनाव: बीजेपी को हराने की तैयारी में जुटी कांग्रेस की नई योजना, बनाया रिपोर्ट कार्ड!

जयपुर: विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस इस बार भाजपा को घेरने की कई रणनीतियों पर एक साथ काम कर रही है. भाजपा के खिलाफ कांग्रेस का खास रिपोर्ट कार्ड जो कि सभी 200 विधानसभा क्षेत्रों का तैयार किया जा रहा है. कांग्रेस के आला नेताओं के सहयोग से मीडिया टीम रिपोर्ट कार्ड तैयार करने में लगी है रिपोर्ट कार्ड में पिछले 5 सालों में भाजपा की नाकामी को शामिल किया जा रहा है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट का कहना है, रिपोर्ट कार्ड उसी तरह का रिपोर्ट कार्ड होगा जो यह साबित करेगा कि पिछले 5 साल में भारतीय जनता पार्टी की परफॉर्मेंस कितनी खराब रही है ताकि आगामी विधानसभा चुनाव में जनता उसी के आधार पर नंबर दे सकें. 

रिपोर्ट कार्ड में कांग्रेस कई स्थानीय और राष्ट्रीय मुद्दों को शामिल कर रही है जिनमें किसान की खराब आर्थिक स्थिति, रोजगार देने के सरकार के वायदे को पूरा नहीं कर पाने की विफलता, प्रदेश में पिछले 5 सालों में खनन, एनआरएचएम जैसे बड़े करप्शन के मामले, महिला सुरक्षा, चिकित्सा शिक्षा और सरकारी कर्मचारियों की नाराजगी जैसे मुद्दे शामिल है. इसके अलावा विधानसभा वाइज स्थानीय स्तर की समस्याओं को भी शामिल किया गया है. सभी 200 विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के नेताओं से इस बारे में फीडबैक लिया गया है ताकि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रत्याशी इसी रिपोर्ट कार्ड के आधार पर भाजपा के प्रत्याशी पर हमला बोल सकें और जनता के बीच इन मुद्दों को रखा जा सके. 

कांग्रेस की प्लानिंग है कि जमीनी स्तर पर और सोशल मीडिया दोनों पर ही सरकारी इन सभी मुद्दों के आधार पर कैंपेनिंग चलाई जा सके ताकि भारतीय जनता पार्टी की साइबर योद्धाओं की फौज को उनकी भाषा में जवाब दिया जा सके. इसके अलावा जल्द शुरू होने वाले कांग्रेस के बूथ कैंपेनिंग के दौरान भी इस रिपोर्ट कार्ड को बांटा जाएगा.

दरअसल, कांग्रेस समझती है कि जब तक भारतीय जनता पार्टी की नाकामी और विफलताओं को जनता को सही ढंग से नहीं समझाया जा सके और मुद्दों पर आधारित चुनाव नहीं लड़ा तो सत्ता में वापसी बेहद मुश्किल है. इसलिए कांग्रेस ने समय रहते ही एक विशेष योजना तैयार की है. देखना होगा कि कांग्रेस का रिपोर्ट कार्ड क्या वाकई कारगर साबित होता है और क्या इस रिपोर्ट कार्ड के जरिए कांग्रेस सत्ता में वापसी की अपने ख्वाब को पूरा करने में कामयाब होती है.