राजस्थान: वोटरों को रिझाने के लिए नेताजी ने तली पूरियां, खिलाया खाना

कहीं नेता अपने कार्यकर्ताओं के लिए खाना बना रहे हैं, उन्हें परोस रहे हैं तो कहीं कार्यकर्ता अपने नेता के स्वागत में जी जान से जुटे हैं.

राजस्थान: वोटरों को रिझाने के लिए नेताजी ने तली पूरियां, खिलाया खाना
नेता जी ने चुनाव प्रचार के व्यस्त मादौल में समय निकाल कर पूरियां तली

जयपुर/सुशांत पारीक: राजस्थान में 199 विधानसभा सीटों को लेकर चुनाव प्रचार में महज 1 दिन का समय बचा है. सियासत अपने पूरे उफान पर और शबाब पर है. सभी पार्टियों की में बयान बाजी और एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप के दौर चल रहा है. लेकिन इसी बीच राजनीति की कुछ दिलचस्प तस्वीरें भी सामने आ रही है. कहीं नेता अपने कार्यकर्ताओं के लिए खाना बना रहे हैं, उन्हें परोस रहे हैं तो कहीं कार्यकर्ता अपने नेता के स्वागत में जी जान से जुटे हैं.

कहीं नेताओं के फूल मालाओं से लादा जा जा रहा है तो कहीं फूलों से और फलों से मिठाइयों से तोला जा रहा है. चारों तरफ चुनावी माहौल का शोर है. हर कोई अपनी जीत के दावे कर रहा है. अपनी जीत में अलग ही समीकरण बता रहा है. ऐसे ही माहौल में राजनीति की कुछ दिलचस्प तस्वीरें देखने को मिली. वैसे आमतौर पर तो नेताजी भाषण देकर ही जनता को मना लेते है लेकिन सियासत में कामयाबी के लिए नेता जी पूरी तलते और बेलते हुए नजर आए तो कहीं 183 मीटर साफा बांधते नजर आए.

जयपुर की हॉट सीट सांगानेर विधानसभा पर कांग्रेस के प्रत्याशी पुष्पेंद्र भारद्वाज ने अपने कार्यकर्ताओं के लिए ना केवल पूरियां तली बल्कि उन्हें परोस कर खिलाई भी. पुष्पेंद्र भारद्वाज का कहना है कि कार्यकर्ता कह रहे थे कि पुरिया कुछ कच्ची हैं लिहाजा उन्होंने खुद ही मोर्चा संभाल लिया और चुनाव प्रचार के व्यस्त समय में से समय निकाल कर कार्यकर्ताओं के लिए पूरियां तली हैं.

वहीं जयपुर में कार्यकर्ताओं ने अपने नेता का अनूठे अंदाज में स्वागत किया. जयपुर के विद्याधर नगर सीट से निर्दलीय उम्मीदवार विक्रम सिंह का उनके कार्यकर्ताओं ने अलग अंदाज में स्वागत करते हुए मुरलीपुरा में आयोजित एक सभा के दौरान कार्यकर्ताओं ने 183 मीटर लंबा साफा बांधा. इस दौरान 20 से अधिक युवाओं की मदद से साफा बांधा गया. कार्यकर्ताओं की तरफ से मिले इस मान-सम्मान पर विक्रम सिंह ने कहा कि जो पगड़ी उन्हें बांधी गई है वे उसकी लाज रखेंगे. बता दें कि प्रदेश में 7 दिसंबर को मतदान होंगे.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close