शर्मनाक: राजस्थान के पाली में बेटी होने पर पति ने पत्नी को छोड़ा, की दूसरी शादी

दूल्हे वालो की मांग को पूरा करने के लिए हिना के पिता ने अपना घर तक बेच दिया और बेटी हिना को ससुराल बालोतरा के लिए विदा किया

शर्मनाक: राजस्थान के पाली में बेटी होने पर पति ने पत्नी को छोड़ा, की दूसरी शादी
3 महीने हिना ने ससुराल में आराम से गुजारे

सुभाष रोहिसवाल/पाली: सरकार 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' के दावे भले कर रही हो लेकिन समाज के आज भी ऐसे लोगों की नहीं जो बहु तो लाना चाहते लेकिन अपने ही घर मे बेटी का जन्म हुआ मंजूर नहीं. पाली की एक बेटी हिना को ससुराल वालो ने इसलिए छोड़ दिया कि उसने बेटी को जन्म दिया. यही नहीं पैसे के लालची पति ने बिना तलाक दिए दूसरी शादी भी कर ली. यहां तक की पिता ने मासूम बच्ची का चेहरा तक नहीं देखा. हिना अपनी मासूम बेटी के साथ अपने पिता के पास रही. समाज के लोगो ने भी ससुराल वालों को समझाने की कोशिश की लेकिन कोई असर नही होता देख आखिर हिना ने कानून की शरण ली.

खबर के मुताबिक पाली के हैदर कॉलोनी की 20 वर्षीया हिना का विवाह यूं तो सामूहिक विवाह समारोह में 2009 में ही हो गया था लेकिन वो ससुराल नहीं गयी थी. 2016 में रस्मो रिवाज के साथ हिना का मुकलावा कराने के तहत धूमधाम से कार्यक्रम आयोजित किया गया. आश्चर्य की बात ये भी की इस कार्यक्रम और दूल्हे वालो की मांग को पूरा करने के लिए हिना के पिता ने अपना घर तक बेच दिया और बेटी हिना को ससुराल बालोतरा के लिए विदा किया. समाज के मौजिज लोग भी वहां थे लेकिन हिना को ये पता नहीं था कि अब उसकी जिंदगी बदलने वाली है. 

3 महीने हिना ने ससुराल में आराम से गुजारे. सब लोगो के बीच सामंजस्य बिठाते घर को अपना घर समझकर रहने लगी. इस दौरान हिना गर्भ से हो गयी. ससुराल वालों ने बच्चे को गिराने के दबाव बनाना शूरु किया. जब हिना ने गर्भ गिराने से इनकार कर दिया तो उसके ऊपर जुल्म ढाए जाने लगे, उसके साथ मारपीट भी होने लगी. आखिर एक दिन हिना ने अपनी मां को आपबीती सुनाई और बोली कि अम्मी मुझे यहां से ले जाओ नहीं तो ये मुझे मार देंगें 

इतना सुनने के बाद अपनी बेटी का हाल पूछने बालोतरा पहुंची और अपनी बेटी की हालत देख दंग रह गयी. अपनी बेटी को अपने साथ पाली ले आयी. यही पर हीना ने एक बेटी को जन्म दिया. बेटी के जन्म की खबर जब हिना ने अपने पति और ससुराल में दी तो उन्होंने आने से साफ मना कर दिया और कहा कि हमे बेटी नहीं चहिए. खत्म कर दो इस बेटी को नही तो तुम्हारी भी यहां कोई जगह नहीं

लेकिन हिना ने साफ इंकार कर दिया. दिन बीते महीने बीते और अब साल भी बीत गया लेकिन हिना का पति एक दिन अपनी बेटी को देखने नही आया न अपनी पत्नी का हालचाल जानने को आया. तभी खबर आई की हिना के पति ने दूसरी शादी कर ली. हिना ये खबर सुनकर अपना होश खो बैठी ओर रोते बिलखते अपनी मां को बताया. 

मां भी बेटी की दुनिया को लुटते देख पागल सी हो गयी फिर भी आपने आप को संभालकर हिना व अपने नवासी को लेकर हिना के ससुराल बालोतरा पहुंची. घर में जाकर बैठे भी नही थे कि हिना के जेठ ने पहले ही बोल दिया कि मेरा भाई दूसरी लड़की ले आया है. 15 लाख रुपये लो और हमारा पीछा छोड़ दो या हिना को यहां रखना है तो दो लाख स्टाम्प पेपर पर लिखकर दो की हिना को कुछ हो जाता है मर जाती है या जहर खा लेती तो पूरी जिमेदारी तुम्हारी होगी. ससुराल वालों की बात सुनकर वह हिना और नवासी को लेकर पाली आ गयी.

समाज के लोगों से बात की उन्होंने भी बालोतरा जाकर हिना के पति और ससुराल वालों को समझाने की कोशिश की लेकिन उन्हें भी धमकाकर भगा दिया. थक हार कर हिना ने आख़िर कानून की शरण ली और महिला थाने के मुकदमा दर्ज कराया. लेकिन ससुराल वाले रसूख और रुपयों के बल पर धमकाते रहे. अब देखना है कि क्या हिना को इंसाफ मिलेगा या फिर वो भी समाज के ठेकेदार की बलि चढ़ जाएगी.