प्रदेश के ये शिक्षक बनें राजस्थान का गौरव, PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई

केंद्रीय मानव संस्थान विकास मंत्रालय की ओर से बुद्धवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में उपराष्ट्रपति शिक्षकों को सम्मानित करेंगे.

प्रदेश के ये शिक्षक बनें राजस्थान का गौरव, PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई
मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इन शिक्षकों से मुलाकत की.

जयपुर: शिक्षक दिवस के मौके पर केंद्र सरकार की तरफ से राजस्थान के 2 शिक्षकों को सम्मानित किया जाएगा. राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान के लिए देश के 45 शिक्षकों का चुनाव किया गया है, जिसमें राजस्थान के दो शिक्षकों इमरान खान मेवाती और सुमन जाखड़ को राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान से नवाजा जायेगा. केंद्रीय मानव संस्थान विकास मंत्रालय की ओर से बुद्धवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में उपराष्ट्रपति शिक्षकों को सम्मानित करेंगे. लेकिन उससे पहले मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इन शिक्षकों से मुलाकत की. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद देश के सभी शिक्षकों से मुलाकत की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की हैं. प्रधानमंत्री ने इन शिक्षकों को शिक्षक दिवस की बधाई देते हुए आज के शिक्षा प्रणाली और शिक्षा में उनके विशेष योगदान पर चर्चा भी की.  

 

 

बता दें कि 39 वर्षीय इमरान खान अलवर जिले के मालाखेड़ा के खारेड़ा गांव के निवासी हैं. उनके पिता एक एक किसान हैं. इमरान के चार भाई और तीन बहन है. सभी शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे है. खुद इमरान अलवर के संस्कृत विद्यालय में प्राइमरी सेक्शन के गणित के अध्यापक हैं. लेकिन आज उन्हें देश में एप डेवलपर के नाम से पहचाना जाता है.  

एप बनाने की शुरुआत 2012 में हुई जब एनसीआरटी साइंस का पहला एप बनाया. उसके बाद शिक्षा के क्षेत्र में छात्रों के काम आने वाले ऐसे लाभकारी अनेको एप बनाये. आज उनके यूजर लगभग डेढ़ करोड़ हैं. 

सबसे बड़ी बात ये है निस्वार्थ सेवा से काम कर रहे इमरान ने करोड़ो रूपये के एप निशुल्क सरकार को समर्पित कर दिए. इमरान चर्चा में तब आये जब 2015 नवम्बर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंग्लैंड में अपने भाषण में उनका जिक्र किया. 

 

 

इमरान अब तक करीब ऐसे 80 एप बना चुके हैं. इन दिनों राजस्थान सरकार के लिए दिशारिया एप बना रहे है. जो कि प्रतियोगी परीक्षओं से संबंधित है. खबर के मुताबिक यह ऐप कॉलेज छात्र छात्राओं के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं में वरदान साबित होगा.  

जबकि राजस्थान के दूसरे शिक्षक डॉक्टर सुमन जाखड़ की बात करें तो उन्होंने स्कूल को समुदाय, माता पिता, पूर्व छात्राओं से जोड़ने के लिए मित्र शिक्षा साथी, शिक्षा श्री , शिक्षा भूषण तथा सखा सम्बन्ध नाम से कई विभागों का गठन किया. साथ डॉक्टर सुमन ने सभी विभागों के नाम से दान पेटिका की स्थापना भी की. जिसमें से अभी तक लगभग 90 लाख रुपए जमा किए गए हैं. जमा किए गए इस राशि से अभी तक स्कूल के विकास में 89 लाख 65 हज़ार रुपये खर्च किये जा चुके हैं.

डॉक्टर सुमन स्कूल में नामांकन बढ़ाने के लिए एवं ड्रॉप आउट को कम करने का प्रयास, नवाचार प्रयोग एवं प्रभाव, एटीएल लैब की स्थापना, टीएलएम का प्रभावी उपयोग, स्मार्ट कक्षा, खेलकूद गतिविधियां, विद्यार्थियों को देश में घुमाना, प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करना, विद्यालय में सामाजिक गतिविधियां संचालित करना तथा राष्ट्र निर्माण एवं एकीकरण के लिए छात्राओं को जागरूक करने की सभी गतिविधियों का आयोजन करवाती हैं.

 

 

राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान से सम्मानित होने पर डॉक्टर सुमन जाखड़ का कहना है कि यह सम्मान मेरा नहीं स्कूल के विकास में योगदान देने वोले सभी लोगों का है. सभी की मेहनत और लगन के कारण ही विद्यायल को राष्ट्रीय स्तर का सम्मान मिल रहा है. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close