राजे सरकार का मास्टर स्ट्रोक, पेट्रोल-डीजल पर वैट घटाने के बाद बढ़ाया महंगाई भत्ता

राजे सरकार ने पिछले 24 घंटे में दो बड़े फैसले लिए हैं. महंगाई भत्ता बढ़ाने से राज्य के 8 लाख राज्य कर्मचारियों और 3.5 लाख पेंशनर्स को मिलेगा लाभ.

राजे सरकार का मास्टर स्ट्रोक, पेट्रोल-डीजल पर वैट घटाने के बाद बढ़ाया महंगाई भत्ता
महंगाई भत्ता 7 फीसदी से बढ़ाकर 9 फीसदी कर दिया गया है. (फाइल फोटो)

दीपक गोयल,जयपुर/नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव से ठीक पहले वसुंधरा सरकार ने दो बडे मास्टर स्ट्रोक लगाते हुए प्रदेश की जनता, राज्य कर्मचारियों और पेंशन भोगियों को राहत दी हैं. राजस्थान में पेट्रोल और डीजल पर 4-4 फीसदी वैट कम करके जनता को राहत दी गई. उसके तुरंत बाद राज्य कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को भी 2 फीसदी महंगाई भत्ता बढ़ाकर सौगात दी. राजस्थान के करीब 8 लाख कर्मचारियों को राजे सरकार ने बड़ा तोहफा दिया हैं. राज्य सेवा के लाखों कर्मचारियों के लिए यह बहुत खुशी की खबर है. सरकार ने महंगाई भत्ता बढ़ाकर 7 फीसदी से 9 फीसदी कर दिया है. राजे सरकार ने 24 घंटे के अंदर ये दूसरा बड़ा फैसला लिया है. 

1 जुलाई, 2018 से लागू
महंगाई भत्ते और महंगाई राहत दर में यह वृद्धि एक जुलाई, 2018 से लागू होगी. इस वृद्धि से राज्य सरकार के लगभग 7 लाख कर्मचारी और 3.5 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा. बता दें कि रविवार शाम को एक सभा के दौरान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने घोषणा करते हुए पेट्रोल-डीजल के दामों पर 4 फीसदी वैट कम किया था, जिससे तेल के दामों में ढ़ाई रुपए तक की कमी आई है. 

राजस्‍थान विधानसभा चुनाव 2018: अलवर और अजमेर में BJP की राह नहीं है आसान

एक साल में दो बार बढ़ाया महंगाई भत्ता, 547 करोड़ का वित्तीय भार
राज्य सरकार ने चुनावी साल में प्रदेश में सरकारी विभागों में कार्यरत लाखों कर्मचारियों और पेंशनर्स को डियरनेस अलाउंस में 2 फीसदी बढ़ोतरी का तोहफा दिया है. सरकार के इस फैसले से राजकोष पर करीब 547 करोड़ रुपए का अतिरिक्त वित्तीय भार आएगा. अधिकारिक जानकारी के अनुसार इस संबंध में राज्य के वित्त विभाग की ओर से आदेश जारी किए गए हैं. आदेशानुसार कर्मचारियों को पूर्व में सात फीसदी डीए दिया जा रहा था.

3.5 लाख पेंशनर्स को मिलेगा लाभ
आदेश जारी किए गए थे. अब इसमें दो फीसदी की बढ़ोतरी की गई है. जुलाई और अगस्त महीने के डीए का एरियर कार्मिक के पीएफ एकाउंट में जमा कराया जाएगा. वहीं, सितंबर से इसका भुगतान वेतन के साथ नकद किया जाएगा. राज्य सरकार ने प्रदेश के करीब 3.50 लाख से अधिक पेंशनर्स के डीए में भी दो फीसदी की बढ़ोतरी की है. इन पेंशनर्स को भी एक जुलाई से इसका लाभ मिलेगा. डीए सिर्फ सरकारी सेवा से रिटायर पेंशनर्स को ही दिया जाएगा. अन्य किसी भी प्रकार के पेंशनर्स को इसका लाभ नहीं मिलेगा. जिला परिषद और नगरीय निकाय के कार्मिकों को भी इसका लाभ दिया जाएगा.

वर्कचार्ज कार्मिकों को भी फायदा
प्रदेश में सार्वजनिक निर्माण विभाग, पीएचईडी, सिंचाई, आयुर्वेद, वन सहित विभिन्न विभागों में सरकार की ओर से जारी नियमों के तहत कार्यरत वर्कचार्ज कार्मिकों को भी बढ़े हुए डीए का तोहफा दिया गया है. इन कार्मिकों को दो फीसदी बढ़ा हुआ डीए एक जुलाई 2018 से दिया जाएगा. राज्य सरकार के वर्कचार्ज कर्मचारियों के लिए बने नियमों के अतिरिक्त कार्यरत कार्मिकों को इसका लाभ नहीं मिलेगा. 

केंद्र सरकार ने भी बढ़ाया था 2 फीसदी महंगाई भत्ता
राजस्थान में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में सरकार का चुनाव से पहले यह तोहफा कर्मचारियों में खुशी भर देगा. हाल ही में मोदी सरकार ने एक करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों का महंगाई भत्ता (डीए) 2 फीसदी बढ़ाया है. बढ़ती महंगाई को ध्यान में रखते हुए अब डीए सात से बढ़ाकर 9 फीसदी  किया है. इस कदम से केंद्र सरकार के 1.1 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को लाभ मिल रहा है अब राज्य सरकार ने भी राज्य के कर्मचारियों की झोली भर दी है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close