राजनाथ ने चीनी सीमा पर रह रहे लोगों को बताया देश की रणनीतिक पूंजी

आईटीबीपी के पहले बटालियन कैंप के जवानों और स्थानीय लोगों को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि सीमाई आबादी को और तवज्जो मिलनी चाहिए क्योंकि सरकार इन सुदूरवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों पर पूरा भरोसा करती है.

राजनाथ ने चीनी सीमा पर रह रहे लोगों को बताया देश की रणनीतिक पूंजी
उत्तराखंड के रिमखिम में आईटीबीपी के बॉर्डर आउट पोस्ट पर सलामी लेते केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह. (PTI Photo/PIB/30 Sep, 2017)

जोशीमठ (उत्तराखंड): केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार (30 सितंबर) को कहा कि चीन सीमा के करीब रह रहे लोग देश की रणनीतिक संपदा हैं और सीमा की हिफाजत कर रहे आईटीबीपी से सुनिश्चित करने को कहा कि वे सभी दूसरी जगह नहीं जाएं क्योंकि इससे भारत की सुरक्षा को खतरा हो सकता है.

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के पहले बटालियन कैंप के जवानों और स्थानीय लोगों को यहां संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि सीमाई आबादी को और तवज्जो मिलनी चाहिए क्योंकि सरकार इन सुदूरवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों पर पूरा भरोसा करती है.

उन्होंने कहा, ‘‘भारत-चीन सीमा के करीब रहने वाले लोग किसी भी कीमत पर नहीं जाएं. वे हमारी रणनीतिक पूंजी हैं. उन्हें और महत्ता मिलनी चाहिए. जिस दिन वे जाएंगे...वह हमारी सुरक्षा के लिए ठीक नहीं होगा.’’ उन्होंने कहा कि सीमाई आबादी का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेतृत्व वाली सरकार के दिल में महत्वपूर्ण स्थान है.

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने कहा है कि सीमा पर रह रहे लोगों की भलाई के लिए खास ध्यान दिया जाना चाहिए. मैं आईटीबीपी (कर्मियों) से अपनी सीमाई नियुक्ति में इलाके की स्थानीय आबादी के साथ मित्रवत व्यवहार करने का आग्रह करता हूं.’’ मंत्री ने सीमा बल से स्थानीय लोगों की सहायता और उनकी समस्याओं के निदान के लिए विशेष शिविर आयोजित करने को कहा.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close