रांची: Zee News से बात कर रही थीं योग टीचर राफिया नाज़, कट्टरपंथियों ने घर पर किया हमला

झारखंड में योग सिखाने वाली प्रसिद्ध मुस्लिम लड़की राफिया नाज़ के घर पर शुक्रवार को कुछ लोगों ने हमला कर दिया और पत्थरबाजी की.

रांची: Zee News से बात कर रही थीं योग टीचर राफिया नाज़, कट्टरपंथियों ने घर पर किया हमला
शो के दौरान हुआ हंगामा...

रांची: झारखंड में योग सिखाने वाली प्रसिद्ध मुस्लिम लड़की राफिया नाज़ के घर पर शुक्रवार को कुछ लोगों ने हमला कर दिया और पत्थरबाजी की. Zee News से बातचीत के दौरान हंगामा हुआ. उधर, रांची एसएसपी का कहना है कि राफिया के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. 
दरअसल जब राफिया ज़ी न्यूज से बात कर रही थीं तो कुछ लोगों ने उनके पर पत्थरबाजी की. उनके घर के नीचे बड़ी तादाद में लोग इकट्ठा हो गए जिससे नाज़ घबरा गईं. उधर, राफिया नाज के घर पर हुई पत्थरबाजी के बाद योग गुरु बाबा रामदेव ने न्यूज एजेंसी ANI से कहा, ईरान, अफगानिस्तान, पाकिस्तान और सऊदी अरब के कई मुसलमान योग का अभ्यास करते हैं. योग एक व्यायाम है, जो शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है. इसमें धर्म को बीच में नहीं लाना चाहिए.'

रांची में डोरंडा इलाके की रहने वाली राफिया नाज़ योग सिखाकर अपनी आजीविका चलाती हैं. योग सिखाना जारी रखने पर उसे फतवे के जरिये धमकाया गया है. वह अपने घर में सबसे बड़ी है और एक स्थानीय कॉलेज से एम.कॉम कर रही है. कुछ समय पहले शहर में योग गुरु रामदेव के साथ मंच साझा करने के बाद नाज चर्चा में आई थीं.

 

फिया को उसके ही समुदाय के कुछ लोगों से जान से मारने की धमकी मिली है. धमकी में कहा गया था कि वह किसी को भी योग न सिखाएं. यह मामला झारखंड के मुख्‍यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुमार के संज्ञान में लाया गया था. उनके आदेशों के बाद पुलिस ने लड़की की सुरक्षा कड़ी करने का फैसला किया. आदेश पर अमल करते हुए रांची के एसएसपी कुलदीप द्विवेदी ने एक पुलिस दल को लड़की से मिलने के लिए भी भेजा था. झारखंड पुलिस के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया कि लड़की को दो सुरक्षाकर्मी भी उपलब्‍ध कराए गए हैं, जिनमें एक पुरुष और दूसरी महिला है. नाज को उसके समुदाय की तरफ से ही धमकियां मिलने के बाद उसके परिजन डरे हुए हैं. 

राफिया नाज़ ने कहा था कि "मेरी समस्या दोनों समुदायों के सदस्यों के साथ है. एक तरफ, मुझे योग नहीं सिखाए जाने को कहा गया है तो और दूसरी तरफ मुझे अपना नाम बदलने के लिए कहा गया है ताकि लोग मुझसे योग सीखने में संकोच न करें". 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close