पटना यूनिवर्सिटी शताब्दी समारोह की अतिथि सूची में शत्रुघ्न, यशवंत, लालू का नाम नहीं

पटना यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र रहे शत्रुघ्न ने इस अवसर पर आमंत्रित अतिथियों की सूची में नाम शामिल नहीं किए जाने पर बहुत निराशा जताई. 

भाषा भाषा | Updated: Oct 13, 2017, 12:46 AM IST
पटना यूनिवर्सिटी शताब्दी समारोह की अतिथि सूची में शत्रुघ्न, यशवंत, लालू का नाम नहीं
14 अक्टूबर को आयोजित होगा पटना यूनिवर्सिटी शताब्दी समारोह...(फाइल फोटो)

पटना: अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा, यश्वंत सिन्हा, लालू प्रसाद ने आगामी 14 अक्टूबर को आयोजित पटना यूनिवर्सिटी शताब्दी समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित अतिथि सूची में नहीं है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि होंगे. पटना यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र रहे शत्रुघ्न ने इस अवसर पर आमंत्रित अतिथियों की सूची में नाम शामिल नहीं किए जाने पर बहुत निराशा जताई. पटना यूनिवर्सिटी शत्रुघ्न के संसदीय क्षेत्र पटना साहिब क्षेत्र में पड़ता है. शत्रुघ्न ने बताया कि वे इस यूनिवर्सिटी से भावनात्मक रूप से जुड़े हुए हैं और उसके शताब्दी समारोह में आमंत्रित नहीं किए जाने से उन्हें तकलीफ पहुंची है.

विभिन्न विषयों पर अपने बेबाक टिप्पणी के कारण अपनी पार्टी भाजपा के लिए असहज स्थिति उत्पन्न करने वाले शत्रुघ्न ने कहा कि इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले अतिथियों की सूची से न केवल उनका नाम गायब है बल्कि यश्वंत सिन्हा और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद का भी नाम सूची में शामिल नहीं है, जो पटना यूनिवर्सिटी के मशहूर छात्रों में शामिल हैं. शत्रुघ्न ने कहा कि इस बारे में उन्होंने इन दोनों से भी बात की है और वे भी आमंत्रित नहीं किए जाने पर आश्चर्य व्यक्त किया है.

यह पूछे जाने पर कि क्या उनका नाम जानबूझकर प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में पार्टी लाइन से हटकर उनकी बेबाक टिप्पणियों के कारण नहीं शामिल नहीं किया गया, शत्रुघ्न ने कहा कि ऐसा हो सकता है. इस समारोह के दौरान प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल सत्यपाल मलिक, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान और केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद मंच साझा करेंगे. पटना यूनिवर्सिटी के साईंस कालेज के छात्र रहे शत्रुघ्न ने कहा कि हाल में यहां के कुलपति बिहारी सिंह यश्वंत सिन्हा के साथ उनसे मिलने आए थे और इस समारोह के सफल आयोजन के लिए मार्गदर्शन चाहा था. अपने संसदीय निधि से पटना यूनिवर्सिटी के कालेजों में सुविधाएं उपलब्ध करने वाले शत्रुघ्न ने कहा कि वे आशा करते हैं कि प्रधानमंत्री को इस यूनिवर्सिटी में शिक्षकों की कमी और धनराशि की कमी सहित अन्य समस्याओं से अवगत कराया जाएगा.

पटना यूनिवर्सिटी के कुलपति बिहारी सिंह ने शत्रुघ्न सहित अन्य को आमंत्रित नहीं किए जाने का कोई अर्थ निकाले को सही नहीं ठहराते हुए कहा कि आमंत्रण पत्र के छपने में विलंब होने के कारण उन्हें भेजा नहीं जा सका पर वे हमारी अतिथि सूची में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि पटना यूनिवर्सिटी शताब्दी समारोह के अवसर पर एक बड़े कार्यकम का आयोजन आगामी 10 दिसंबर को आयोजित किया जा रहा है जिसमें सभी पूर्व छात्रों को आमंत्रित किया जाएगा.