गुजरात के रण में राहुल गांधी को चुनौती देंगे शहजाद पूनावाला, बनाई यह रणनीति..

पूनावाला ने कहा कि राहुल गांधी कांग्रेस के इतिहास में पहले अवैध और असंवैधानिक अध्यक्ष होंगे. इसलिए इस दिन को वह एक काला दिवस (Black Day) के रूप में मनाएंगे.

Shriram Sharma श्रीराम शर्मा | Updated: Dec 7, 2017, 10:14 AM IST
गुजरात के रण में राहुल गांधी को चुनौती देंगे शहजाद पूनावाला, बनाई यह रणनीति..
शहजाद पूनावाला 8 दिसंबर से राहुल गांधी के खिलाफ अभियान शुरू करने जा रहे हैं (फाइल फोटो)

नई दिल्ली : गुजरात में पहले चरण के लिए 9 तारीख को वोट डाले जाएंगे. उसके लिए चुनाव प्रचार आज गुरुवार की शाम को थम जाएगा. बीजेपी की तरफ से खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो राहुल गांधी कांग्रेस के सारथी बन रणनीति तैयार कर अपने-अपने खेमों को मजबूत करने में लगे हुए हैं. गुजरात में बीजेपी में पिछले दो दशकों से राज कर रही है. लंबे समय से सत्ता में बने रहने की चुनौती और अंदरूनी विरोध का सामना कर रही भाजपा के सामने राहुल गांधी का रोज नया अवतार एक बड़ी चुनौती पेश कर रहा है. भाजपा, कांग्रेस के गढ़ में सैंध लगाकर उसे ढहाने की रणनीति पर लगातार काम कर रही है. चुनावों से पहले कांग्रेस में हुई बड़ी टूट उसी की परिणीति थी. अब भाजपा ने एक नई बिसात बिछाई है और उस बिसात पर मौहरा बनाया है कांग्रेस के वंशवाद के लिए एक सीधी चुनौती करने वाले शहजाद पूनावाला. पार्टी सूत्र बताते हैं कि पार्टी का शीर्ष नेतृत्व पूनावाला के विरोध को कैश करने की रणनीति बनाने में जुटा हुआ है.

पूनावाला भी 8 दिसंबर को प्रधानमंत्री अपने गृह जनपद राजकेट में राहुल के खिलाफ प्रचार अभियान शुरू करने जा रहे हैं. हार्दिक पटेल को साथ लेकर जिस तरह कांग्रेस ने भाजपा के राजनीतिक समीकरण बिगाड़ने की कोशिश की है उसी तरह भाजपा भी शहजाद पूनावाला के विरोध को हवा देकर कांग्रेस के सामने चुनौती पेश करने की जद्दोजहद में है.

राहुल गांधी की ताजपोशी पर उठे सवाल, कांग्रेसी नेता ने कहा- 'ये चुनाव इलेक्शन नहीं सलेक्शन'

शहजाद पूनावाला ने कहा है कि वह कांग्रेस में वंशवाद को खत्म करने के लिए संघर्ष करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि वे 8 दिसंबर को राजकोट में कांग्रेस के औरंगजेब के खिलाफ बिगुल फूंकेंगे. वह एक प्रेस कांफ्रेंस करेंगे जिसकी थीम होगी 'असली कांग्रेस बचाओ, वंशवाद को हटाओ'.
पूनावाला ने बताया, 'उनका यह अभियान राष्ट्रीय स्तर का होगा और इस अभियान में मेरी विचारधारा से सहमति रखने वाले कांग्रेसी शामिल होंगे.'पूनावाला का यह अभियान केवल गुजरात चुनाव तक ही सीमित नहीं रहेगा. 2019 में आम चुनाव के दौरान वह उत्तर प्रदेश के अमेठी में भी इसी रणनीति पर काम करेंगे.

राहुल को चुनौती देने वाले शहजाद पूनावाला हैं रॉबर्ट वाड्रा के रिश्तेदार

पूनावाला ने DNA के साथ खास बातचीत में कहा, 'राहुल गांधी कांग्रेस के इतिहास में पहले अवैध और असंवैधानिक अध्यक्ष होंगे. इसलिए इस दिन को वह एक काला दिवस (Black Day) के रूप में मनाएंगे.' उन्होंने बताया, 'जब राहुल को अध्यक्ष घोषित किया जाएगा, उस दिन हजारों कांग्रेसी सोशल मीडिया पर प्रोफाइल फोटो को बदलकर उस स्थान को काला कर देंगे. मेरे समर्थक पूरे देश में काले कपड़े पहनकर प्रदर्शन करेंगे और राजकोट से शुरू होने वाला यह प्रदर्शन 2019 में अमेठी में जाकर खत्म होगा.' पूनावाला ने कहा कि हम लोकसभा में कांग्रेस की जीत के लिए दिन-रात एक करते हुए खूब मेहनत करेंगे, लेकिन अमेठी में वह कांग्रेस के औरंगजेब के खिलाफ काम करेंगे.

इतना ही नहीं पूनावाला राहुल की ताजपोशी को कानूनी तौर पर चुनौती देने की भी योजना बना रहे हैं. इसके लिए वह पूर्व चुनाव आयुक्तों से सलाह ले रहे हैं कि किस आधार पर राहुल की अध्यक्षता को कोर्ट में चुनौती दी जा सके. बता दें कि शहजाद पूनावाला महाराष्ट्र कांग्रेस में सचिव पद पर हैं और उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के चुने जाने को चुनौती दी थी. उन्होंने कहा था कि राहुल का चुनाव, चुनाव नहीं चयन है. शहजाद के इस बयान के बाद उनके परिवार में भी संकट खड़ा हो गया था. उनके भाई ने शहजाद से सभी रिश्ते खत्म करने की घोषणा की थी.