SP सांसद नरेश अग्रवाल का विवादित बयान, 'अभी तो आतंकी आए हैं, पाकिस्तानी सेना आएगी तो क्या हालत होगी?'

समाजवादी पार्टी के सांसद ने श्रीनगर के अस्पताल से आतंकियों द्वारा अपने साथी को छुड़ा ले जाने की वारदात पर प्रतिक्रिया देते हुए देश की रक्षा नीति पर सवालिया निशान लगाते हुए सेना के भरोसे को भी कटघरे में खड़ा कर दिया. 

Naveen Kumar नवीन कुमार | Updated: Feb 6, 2018, 05:58 PM IST
SP सांसद नरेश अग्रवाल का विवादित बयान, 'अभी तो आतंकी आए हैं, पाकिस्तानी सेना आएगी तो क्या हालत होगी?'
समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने संसद परिसर में श्रीनगर अस्पताल से आतंकी को भगा ले जाने की घटना पर केंद्र सरकार पर साधा निशाना (फोटोः एएनआई)

नई दिल्ली: श्रीनगर के अस्पताल से आतंकी को छुड़ा ले जाने की घटना पर सपा सांसद नरेश अग्रवाल ने देश की सेना को लेकर विवादित बयान दिया है. आपको बता दें कि श्रीनगर के महाराजा हरि सिंह अस्पताल से आतंकियों ने पुलिस पर फायरिंग कर दो पुलिसवालों को घायल कर दिया और अपने साथी को भगाकर ले गए. इस हमले में घायल दोनों पुलिसवाले शहीद हो गए है. इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए नरेश अग्रवाल ने देश की रक्षा नीति पर सवालिया निशान लगाते हुए सेना के भरोसे को भी कटघरे में खड़ा कर दिया.

नरेश अग्रवाल ने संसद परिसर में कहा 'हम हर बार कहते हैं कि कहते हैं कि देश के सैनिकों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा. रक्षा मंत्री की तरफ से भी बयान आता है कि कोई हमारी तरफ आंख नहीं उठा सकता है लेकिन आंख तो उठ रही है.' नरेश अग्रवाल यहीं नहीं रुके, उन्होंने देशी सीमाओं की रखवाली कर रहे सैनिकों के साहस को ललकारते हुए कहा 'अगर आतंकवादी ये हाल कर रहे हैं तो पाकिस्तानी फौज आएगी तो क्या हालत होगी. देश को कड़े निर्णय लेने चाहिए.'

नायडू को लेकर हंगामा
इससे पहले राज्यसभा में मंगलवार को विपक्षी नेताओं ने सभापति वेंकैया नायडू के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया. विपक्षी नेताओं का आरोप है कि वेंकैया नायडू सदन में जनता की हितों से जुड़ें मुद्दों को उठाने नहीं देते हैं. अपना विरोध जताने के लिए विपक्ष ने मंगलवार को दिनभर के लिए राज्यसभा की कार्यवाही का बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया.

इस मामले पर सपा नेता नरेश अग्रवाल ने कहा, 'जिस तरीके से राज्यसभा की कार्यवाही चलाई जा रही है, उसमें विपक्षी दलों की आवाज को दबाया जा रहा है. हम यहां लोगों की आवाज भी उठाने आए हैं. अगर हमें ऐसा नहीं करने दिया जाएगा तो संसद का क्या मतलब रह जाएगा.' 

यह भी पढ़ेंः जवानों की शहादत पर फारूक अब्दुल्ला का विवादित बयान, गोलियां दोनों तरफ से चलती हैं

राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद की अगुवाई में समाजवादी पार्टी (सपा), सीपीआई, सीपीएम, एनसीपी और डीएमके ने वेंकैया नायडू के खिलाफ मोर्चा खोला. उन्होंने कहा कि अगर सभापति वेंकैया नायडू की यही आदत रही तो वे उचित कदम उठाने को विवश होंगे.

यह भी पढ़ेंः श्रीनगर: अस्‍पताल में पुलिस पर हमला कर आतंकी हुआ फरार

पत्रकारों से बातचीत में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, 'सभापति सदन में जनहित के मुद्दे उठाने नहीं दे रहे हैं. यह ठीक नहीं है. इसके प्रति विरोध जताने के लिए एकजुट विपक्ष ने आज दिनभर के लिए सदन की कार्यवाही का बहिष्कार किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि सभापति कार्यवाही चलाने में संसदीय नियमों को नहीं मान रहे हैं. वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा, 'सभापति का रवैया अलोकतांत्रिक है. हम चेयरमैन से लिखित शिकायत करेंगे.