कमला मिल्स हादसाः कई खामियों के चलते लगी आग, जांच रिपोर्ट में खुलासा

रिपोर्ट के मुताबिक कमला मिल के मालिक के जरिए 3 एनओसी नहीं लिए गए थे, यह सारे एनओसी फायर ब्रिगेड से लेने थे.

कमला मिल्स हादसाः कई खामियों के चलते लगी आग, जांच रिपोर्ट में खुलासा
29 दिसम्बर 2017 को आग मोजोस बिस्त्रो में अवैध रूप से परोसे गए हुक्के में लकड़ी के कोयले की उड़ती चिंगारी से फैली.

राजीव रंजन सिंह, मुंबईः कमला मिल्स रेस्टोरेंट में लगी आग के मामले दो पूर्व जजों की जांच कमेटी ने अदालत को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. इस रिपोर्ट में कई बातों को बताया गया है जिसमें भ्रष्टाचार सहित, महज लाभ के लिए कई बातों की अनदेखी करना और अधिकारी सहित बिल्डर के जरिए अपने स्वार्थ चलते खामियों को अनदेखी करने की बात कही गई है . रिपोर्ट में रेस्टोरेंट में अवैध तरीके से हुक्का पार्लर चलाने की बात भी कही गई है. इसके अलावा रेस्टोरेंट में बगैर किसी सुरक्षा इंतजामात के सिगड़ी और आग के खेल का प्रदर्शन होता था.

रेस्टोरेंट मालिक ने नहीं लिए थे 3 NOC
रिपोर्ट के मुताबिक कमला मिल के मालिक के जरिए 3 एनओसी नहीं लिए गए थे, यह सारे एनओसी फायर ब्रिगेड से लेने थे. एक्साइज विभाग के तीन अधिकारियों के नाम भी रिपोर्ट में जाहिर किया गया है जिन्होनें इस मामले में लापरवाही बरती है. रेस्टोरेंट बनाने वाली इंटीरियर डिजाइनर के खिलाफ भी इस रिपोर्ट में बताया गया है कि नियमों की अनदेखी करके रेस्टोरेंट के डिजाइन किए गए थे जिसमें आपातकाल में लोगों के निकलने की कोई व्यवस्था नहीं रखी गई थी.

रिपोर्ट के मुताबिक रेस्टोरेंट में चारकोल का भी इस्तेमाल होता था और यहां की इलेक्ट्रिसिटी व्यवस्था दुरुस्त नहीं थी.

आग में हुई थी 14 लोगों की मौत
कमला मिल्स परिसर में पिछले साल 29 दिसंबर को लगी भीषण आग में 17 लोगों की मौत हो गई थी. इस आग ने 'मोजोस बिस्त्रो' और निकटवर्ती 'वन अबव' पब को अपनी चपेट में ले लिया था.

कमला मिल्स हादसा : कौन है यह जांबाज जवान? जानिए इस तस्वीर के पीछे की कहानी

गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज है
बता दें कि इस मामले में नागपुर के व्यापारी तुली और उसके भागीदार युग पाठक के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया था. पाठक पुणे के पूर्व पुलिस आयुक्त के के पाठक का बेटा है. उस वक्त पुलिस अधिकारी ने बताया था कि यह कदम मुंबई अग्निशमन दल की रिपोर्ट के आधार पर उठाया गया था. रिपोर्ट में कहा गया था कि आग संभवत: मोजोस बिस्त्रो में हुक्के से उड़ती चिंगारियों के कारण लगी और 'वन अबव' में फैल गई. उन्होंने बताया था कि शुरुआत में ‘वन अबव’ पब के तीन मालिकों, प्रबंधकों और कर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close