केरल को पहले ही दी गई थी अत्यधिक बारिश होने की चेतावनीः मौसम विभाग

जानकारी केरल सहित सभी संबद्ध राज्यों के मुख्य सचिवों को अलग से भी ई मेल के जरिये भेजी गयी थी. साथ ही राज्य के इदुक्की में 14 अगस्त से होने वाली भारी बारिश का रेड अलर्ट 12 अगस्त को ही जारी कर दिया गया था.

केरल को पहले ही दी गई थी अत्यधिक बारिश होने की चेतावनीः मौसम विभाग
फाइल फोटो

नई दिल्लीः मौसम विभाग ने केरल में सामान्य से अत्यधिक बारिश होने के बारे में पहले से आगाह नहीं करने के राज्य सरकार के आरोप का खंडन करते हुये मौसम विभाग ने कहा है कि इस बारे में अगस्त के पहले सप्ताह पहले ही केरल को चेतावनी जारी कर दी गयी थी. विभाग ने शनिवार को जारी बयान में कहा है कि केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन सहित राज्य सरकार के आला अधिकारियों के साथ समय समय पर हुई बैठकों में उन्हें स्थिति से लगातार अवगत कराया जाता रहा है. उल्लेखनीय है कि हाल ही में विजयन ने राज्य में बाढ़ की आपदा के बारे में मौसम विभाग द्वारा पहले से सटीक जानकारी नहीं देने का केरल विधानसभा में आरोप लगाया था. 

अगस्त के पहले सप्ताह में जारी की थी चेतावनी
विभाग ने कहा कि तिरुवनंतपुरम स्थित मौसम विभाग के कार्यालय ने अगस्त माह के शुरु में ही विभिन्न माध्यमों से प्रतिदिन चेतावनी देना शुरु कर दिया था. इनमें मौसम विभाग की वेबसाइट, एसएमएस और ईमेल के अलावा नाउकास्ट प्रणाली से केरल के प्रत्येक जिले के लिये अगले तीन घंटों की मौसम की जानकारी से राज्य सरकार के संबद्ध अधिकारियों को लगातार अवगत कराया गया. विभाग ने स्पष्ट किया कि नौ अगस्त को राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा आहूत उच्च स्तरीय बैठक में भी केरल में जबरदस्त मानसून और इस कारण होने वाली मूसलाधार बारिश की स्थिति का विस्तार से उल्लेख किया गया था.

विभिन्न माध्यमों से दी थी जानकारी
इतना ही नहीं, राज्य के मुख्य सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व एवं आपदा प्रबंधन) को इस बारे में विभाग द्वारा टेलीफोन पर मौखिक रूप से समय समय पर बारिश के पूर्वानुमान की जानकारी दी गयी थी. विभाग ने कहा कि इसके पहले राज्य के जिलाधिकारियों को भी ‘डॉप्लर वेदर राडार डाटा’ के माध्यम से लगातार जानकारी दी गयी. इस दौरान राज्य के मुख्य सचिव, अतिरिक्त मुख्य सचिव (राजस्व एवं आपदा प्रबंधन), राज्य आपदा प्रबंधन और नौसेना के अधिकारियों को ईमेल के जरिये मौसम संबंधी सभी प्रकार की चेतावनियों से अवगत कराया गया. इसमें प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से भी मौसम विभाग ने आवश्यक जानकारी दी थी.

मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान से अवगत कराया था
विभाग ने कहा कि 10 अगस्त को राज्य आपदा प्रबंधन के सदस्य सचिव को और 14 अगस्त को कोवलम एवं तिरुवनंतपुरम के जिलाधिकारी को मूसलाधार बारिश के पूर्वानुमान से अवगत कराया गया था. इससे पहले दो अगस्त को दिल्ली स्थित मौसम विभाग के मुख्यालय से राज्य में अगले दो सप्ताह के मौसम के अनुमान की जानकारी देते हुये दक्षिण प्रायद्वीपीय इलाकों में नौ से 15 अगस्त के बीच मूसलाधार बारिश होने की आशंका जतायी गयी थी. यह जानकारी केरल सहित सभी संबद्ध राज्यों के मुख्य सचिवों को अलग से भी ई मेल के जरिये भेजी गयी थी. साथ ही राज्य के इदुक्की में 14 अगस्त से होने वाली भारी बारिश का रेड अलर्ट 12 अगस्त को ही जारी कर दिया गया था.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close