गुवाहाटी में बोले अमित शाह, मिजोरम चुनाव के बाद कांग्रेस मुक्त हो जाएगा नॉर्थ-ईस्ट

नेडा के तीसरे सम्मेलन में अमित शाह ने कहा, 'पूर्वोत्तर में हमने पहले असम में चुनाव जीता, उसके बाद मणिपुर और उसके बाद त्रिपुरा. त्रिपुरा में हमें लोगों ने भारी जनादेश दिया.'

गुवाहाटी में बोले अमित शाह, मिजोरम चुनाव के बाद कांग्रेस मुक्त हो जाएगा नॉर्थ-ईस्ट
अमित शाह ने कहा कि नेडा में पूर्वोत्‍तर की सभी दौ सौ 17 जनजातियों का प्रतिनिधित्‍व होना चाहिए.

गुवाहाटी : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि मिजोरम विधानसभा चुनाव के बाद पूर्वोत्तर कांग्रेस मुक्त हो जाएगा. मिजोरम में इस साल के अंत में चुनाव होना है. बीजेपी नीत राजनीतिक मंच, पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन (नेडा) के तीसरे सम्मेलन को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा, 'पूर्वोत्तर में हमने पहले असम में चुनाव जीता, उसके बाद मणिपुर और उसके बाद त्रिपुरा. त्रिपुरा में हमें लोगों ने भारी जनादेश दिया.'

अमित शाह ने कहा कि नागालैंड और मेघालय में बीजेपी के समर्थन से नेडा सत्ता में है. चुनाव बाद मिजोरम भी कांग्रेस मुक्त हो जाएगा. उन्होंने कहा, 'इस साल के अंत में मिजोरम में चुनाव के बाद पूर्वोत्तर के सभी आठ मुख्यमंत्री यहां एक साथ बैठे होंगे.'

उन्होंने कहा कि नेडा केवल एक राजनीतिक मंच नहीं, बल्कि भू-राजनीतिक मंच है, जिसका मकसद पूर्वोत्तर का विकास करना है. नेडा का गठन असम में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत के बाद 2016 में किया गया था. उन्होंने कहा कि इससे पहले पूर्वोत्तर राज्यों को भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता था. अब नेडा सरकार की मौजूदगी में राज्य ब्रीफकेस राजनीति से परे जा चुके हैं और विकास के रास्ते में नई उपलब्धियां अर्जित कर रहे हैं.

इन क्षेत्रों में कांग्रेस शासन पर निशाना साधते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि सभी कांग्रेस मुख्यमंत्रियों के दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और अन्य शहरों में बंगले हैं. उन्होंने कहा कि तो पैसा कहां से आ रहा है? गरीबों के विकास की निधियों से पैसा लिया गया. बीजेपी सरकार ने सुनिश्चित किया कि केंद्र द्वारा जारी किया गया एक-एक रुपया लोगों तक पहुंचे.

Amit Shah

अमित शाह ने कहा कि जल्द ही नेडा का गुवाहाटी में एक क्षेत्रीय कार्यालय होगा और इसकी महिला व युवा शाखा बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों के युवा आशा के साथ नेडा की ओर देख रहे हैं. मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, विधायक, सांसद और नीडा के अन्य सदस्य समेत पूर्वोत्तर के सात राज्यों के प्रतिनिधियों ने सम्मेलन में भाग लिया. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close