दो फिल्‍मों पर विवाद के चलते फिल्‍ममेकर सुजॉय घोष ने IFFI जूरी प्रमुख के पद से दिया इस्तीफा

उनसे जब पूछा गया कि क्या उन्होंने विवाद के चलते इस्तीफा दिया है तो घोष ने कहा, ''हां, लेकिन इस समय मैं इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता हूं.''

दो फिल्‍मों पर विवाद के चलते फिल्‍ममेकर सुजॉय घोष ने IFFI जूरी प्रमुख के पद से दिया इस्तीफा
सुजय घोष (फोटो: Twitter)

मुंबई: फिल्मकार सुजॉय घोष ने कहा कि उन्होंने भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) के इंडियन पैनोरमा डिवीजन से इस्तीफा दे दिया है. अंतिम सूची में से दो फिल्मों को हटाए जाने के विवाद के बाद उन्होंने इस्तीफा दिया है. 13 सदस्यीय ज्यूरी की सिफारिशों को नामंजूर करते हुए सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने फिल्म महोत्सव के 48वें संस्करण से मलयालम फिल्म 'एस दुर्गा' और मराठी फिल्म 'न्यूड' को हटा दिया था. यह महोत्सव 20 नवंबर से 28 नवंबर को गोवा में आयोजित होगा.

उनसे जब पूछा गया कि क्या उन्होंने विवाद के चलते इस्तीफा दिया है तो घोष ने कहा, ''हां, लेकिन इस समय मैं इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकता हूं.'' निर्णायक समिति द्वारा जमा की गई सूची में से फिल्मों को हटाने वाले मंत्रालय के इस कदम पर समिति के कई सदस्यों ने नाखुशी जताई. नाम गुप्त रखने की शर्त पर समिति के एक सदस्य ने बताया कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ.

एक सदस्य ने बताया कि निर्णायक समिति ने 20-21 सितंबर को ही मंत्रालय को अपनी सूची सौंप दी थी लेकिन इस सूची को हाल ही में सामने रखा गया और दोनों फिल्मों का नाम इसमें से हटा दिया गया. मंत्रालय ने खबरों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

दोनों फिल्मों के निर्देशकों ने बताया कि वह मंत्रालय के इस फैसले से बेहद निराश और चकित हैं. 'एस दुर्गा' के निर्देशक सनल कुमार शशिधरण ने कहा कि वह मंत्रालय द्वारा उठाए गए इस ''चालाकीपूर्ण कदम'' के खिलाफ अदालत जाएंगे.

उन्होंने कहा, ''उन्हें महोत्सव शुरू होने से दो-तीन हफ्ते पहले सूची प्रकाशित करनी थी लेकिन उन्होंने जान बूझकर इसमें देरी की.'' 'न्यूड' के निर्देशक रवि जाधव भी इस फैसले से निराश हैं.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close