SUPER EXIT POLL: गुजरात में एक बार फिर BJP सरकार के आसार, कांग्रेस की उम्मीदों को झटका!

गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर आए SUPER EXIT POLL में बीजेपी बहुमत के करीब दिख रही है.

SUPER EXIT POLL: गुजरात में एक बार फिर BJP सरकार के आसार, कांग्रेस की उम्मीदों को झटका!

नई दिल्ली: गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए दूसरे चरण की वोटिंग खत्म होते ही विभिन्न न्यूज चैनलों के एग्जिट पोल आए, जिसमें लगातार छठी बार इस राज्य में बीजेपी सरकार बनती दिख रही है. विभिन्न चैनलों के एग्जिट पोल पर नजर डालें तो बीजेपी गुजरात की 182 सीटों में 100 से ज्यादा सीटें जीतती दिख रही है, वहीं कांग्रेस को 50-60 सीटें मिलती दिख रही है. इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में गुजरात में फिर से कमल खिलता नजर आ रहा है. गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 99 से 113 और कांग्रेस को 68 से 82 सीटें मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. ABP न्यूज-CSDS के एग्जिट पोल में सौराष्ट्र और कच्छ इलाके में बीजेपी को बढ़त दिख रही है. दक्षिण गुजरात और उत्तर गुजरात में भी बीजेपी को ही बढ़त दिख रही है. चार न्यूज चैनलों के एग्जिट पोल का औसत निकालकर तैयार किए गए SUPER EXIT POLL में बीजेपी को पिछली बार से ज्यादा सीटें मिलती हुई दिख रही हैं. SUPER EXIT POLL में बीजेपी को 117, कांग्रेस को 64 और अन्य के खाते में एक सीट जाने का अनुमान है.

गुजरात के सभी 182 सीटों का एग्जिट पोल एक साथ देखें

चैनल BJP CONG OTHER
इंडिया टूडे-AXIS 106 75 1
ABP-CSDS 117 64 1
India TV-VMR 109 70 3
न्यूज24-टुुुुडेज चाणक्य 135 47 0
महा EXIT POLL 117 64 1
 

 

ये भी पढ़ें: हिमाचल SUPER EXIT POLL: प्रचंड बहुमत के साथ BJP बना सकती है सरकार, कांग्रेस का सूपड़ा साफ

जी न्यूज लाइव यहां देखें

मालूम हो कि गुजरात विधानसभा चुनाव के तहत दूसरे और अंतिम दौर में उत्तरी और मध्य गुजरात में 14 जिलों में 93 सीटों के लिए मतदान हुआ, जिसमें कुल 851 उम्मीदवार मैदान में हैं. इस चरण में 2.22 करोड़ लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. भाजपा के खिलाफ जाति आधारित समीकरण बैठाने की जुगत में कांग्रेस ने हार्दिक पटेल, ठाकोर और मेवानी का सहारा लिया है जो पाटीदारों, अन्य पिछड़ा वर्ग और दलितों की ओर से युवा तुर्क बनकर उभरे हैं. इस चुनाव को 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले की परीक्षा माना जा रहा है. गुजरात विधानसभा चुनाव मोदी के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न हैं और राहुल के लिए अग्निपरीक्षा हैं. वर्ष 2012 में भाजपा ने 115 सीट जीती थीं. कांग्रेस को 61 सीटों पर जीत मिली थी.

चुनाव प्रचार के अंतिम चरण में मोदी ने तीखा हमला बोला और पालनपुर में एक रैली के दौरान आरोप लगाया कि पाकिस्तान गुजरात चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है. उन्होंने दावा किया कि मणिशंकर अय्यर द्वारा उन्हें ‘नीच’ कहे जाने के एक दिन पहले कुछ पाकिस्तानी अधिकारियों और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिहं के बीच मुलाकात हुई. हालांकि, मनमोहन सिंह ने मोदी से कहा कि उन्हें अपनी टिप्पणियों के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए.

इससे पहले गुजरात में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात की 89 सीटों पर 67 प्रतिशत मतदान हुआ था. इन सीटों पर कुल 977 उम्मीदवार अपनी चुनावी किस्मत आजमा रहे हैं. इस फेज में कुल 2.12 करोड़ मतदाता थे. पहले चरण के मतदान से पहले मोदी ने करीब 15 रैलियों को संबोधित किया, वहीं गांधी ने सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात में सात दिन से ज्यादा गुजारते हुए कई रैलियों को संबोधित किया. मुख्य चुनावी रणनीतिकार भाजपा प्रमुख अमित शाह ने भी रैलियों को संबोधित करते हुए खासतौर पर कांग्रेस और उसके नेताओं पर निशाना साधा.

भाजपा ने केंद्रीय मंत्रियों - अरुण जेटली, राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण के अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भी प्रचार के लिए उतारा. कांग्रेस की तरफ से पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पी चिदंबरम, ज्योतिरादित्य सिंधिया तथा सचिन पायलट जैसे महत्वपूर्ण नेताओं ने मतदाताओं के सामने अपनी पार्टी का पक्ष रखा.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close