नौकरी नहीं मिलने से हैं परेशान तो इन दो शहरों में आजमाएं भाग्य, सर्वे तो कुछ यही कह रहा है

बेंगलुरू में जहां आईटी उद्योग में सबसे ज्यादा मौके हैं तो दिल्ली में एमबीए और ई-कॉमर्स के क्षेत्र में सबसे ज्यादा रोजगार है.

नौकरी नहीं मिलने से हैं परेशान तो इन दो शहरों में आजमाएं भाग्य, सर्वे तो कुछ यही कह रहा है
अगले दस सालों में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ई-कॉमर्स अर्थव्यवस्था वाला देश बन जाएगा...(प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली: अगर आप नौकरी न मिलने से परेशान हैं तो इन दो शहरों में जाकर भाग्य जा सकते हैं. एक सर्वे में यह बात निकलकर सामने आई है. देश में नौकरी के सबसे ज्यादा मौके बेंगलुरू और दिल्ली में है. बेंगलुरू में जहां आईटी उद्योग में सबसे ज्यादा मौके हैं तो दिल्ली में एमबीए और ई-कॉमर्स के क्षेत्र में सबसे ज्यादा रोजगार है. टैलेंट प्लेटफार्म यूथ4वर्क द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण में यह जानकारी सामने आई है.

इस सर्वेक्षण में बताया गया कि देश में आईटी इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा अवसर बेंगलुरू (35 फीसदी), हैदराबाद (23 फीसदी), दिल्ली (22.5 फीसदी), अहमदाबाद (19 फीसदी), मुंबई (15 फीसदी)और चेन्नई (11 फीसदी) में है. जबकि एमबीए और ई-कॉमर्स क्षेत्रों में दिल्ली (37 फीसदी), मुंबई (28 फीसदी), बेंगलुरू (21 फीसदी), अहमदाबाद (17 फीसदी), चेन्नई (14 फीसदी) और हैदराबाद (12 फीसदी) में सबसे ज्यादा नौकरियां है. 

सर्वेक्षण में बताया गया कि देश का ई-कॉमर्स उद्योग तेजी से बढ़ रहा है और जल्द ही यह अमेरिका को पीछे छोड़ देगा और अगले दस सालों में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी ई-कॉमर्स अर्थव्यवस्था वाला देश बन जाएगा. इस दौरान देश का ई-कॉमर्स उद्योग 30 फीसदी की रफ्तार से बढ़ेगा. आईटी और ई-कॉमर्स उद्योग में तेजी का प्रमुख कारण इंटरनेट का बढ़ता प्रयोग है. सर्वेक्षण में आगे कहा गया कि आईटी क्षेत्र में बढ़ोतरी के साथ इंजीनियर और कंप्यूटर साइंस के विशेषज्ञों की शिक्षा के क्षेत्र में भी मांग बढ़ेगी. आईटी क्षेत्र में 35.6 फीसदी की दर से बढ़ोतरी की उम्मीद है. देश का आईटी क्षेत्र दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी निर्यातक है. 

यूथ4वर्क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रंचित जैन ने कहा, "प्रौद्योगिकी हमेशा बदलती है और उन्नत होती जाती है, इसलिए कर्मचारियों को भी समय-समय पर अपना कौशल बढ़ाने की जरूरत है."

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close