AMU की एडवाइजरी, 'यूनिवर्सिटी फंक्शन में पहनें काली शेरवानी या कुर्ता'

परामर्श में विद्यार्थियों को छात्रावास के कमरे से बाहर निकलने की स्थिति में शॉर्ट ड्रेस, बरमूडा, कुर्ता-पायजामा और चप्पल नहीं पहनने के निर्देश दिए गए हैं.

AMU की एडवाइजरी, 'यूनिवर्सिटी फंक्शन में पहनें काली शेरवानी या कुर्ता'
परामर्श में कहा गया है,‘किसी के भी कमरे में प्रवेश करने से पहले दरवाजा खटखटायें और जवाब की प्रतीक्षा करें' (फाइल फोटो)
Play

नई दिल्ली: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने सर शाह सुलेमान हॉल के पुरुष छात्रावासों में रहने वाले विद्यार्थियों को कमरे से बाहर निकलने के समय शॉर्ट ड्रेस और चप्पल नहीं पहनने के लिए कहा है. छात्रों को महत्वपूर्ण मौकों और विश्वविद्यालय के समारोहों में काली शेरवानी पहनने के लिए कहा गया है. 

विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक परामर्श जारी किया है जिसमें एएमयू की ‘मूल परंपराओं’ की सूची हैं. परामर्श में कहा गया है,‘उचित पोशाक में ही छात्रावास से बाहर निकले. कुर्ता और पायजामा तथा चप्पल पहनकर हॉल परिसरों से बाहर नहीं निकले. यही नियम भोजन कक्ष, आम (कॉमन) कक्ष और पठन (रीडिंग) कक्ष के लिए भी लागू होता है.

इस परामर्श में विद्यार्थियों को छात्रावास के कमरे से बाहर निकलने की स्थिति में शॉर्ट ड्रेस, बरमूडा, कुर्ता-पायजामा और चप्पल नहीं पहनने के निर्देश दिए गए हैं. सभी महत्वपूर्ण मौकों और विश्वविद्यालय के समारोहों में काली शेरवानी या कुर्ता पायजामा पहनकर आने को कहा गया है. इसमें कहा गया है,‘डाइनिंग हॉल के अटेंडेंट को ‘मियां’ या ‘भाई’ कहकर पुकारा जाना चाहिए.’

परामर्श में कहा गया है,‘किसी के भी कमरे में प्रवेश करने से पहले दरवाजा खटखटायें और जवाब की प्रतीक्षा करें और घर से लाये गये खाद्य पदार्थ अपने साथ में रहने वाले छात्रों के साथ साझा करें.’

(इनपुट - भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close