उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा के आरोपियों को बचा रही है योगी सरकार : सीताराम येचुरी

येचुरी ने कहा कि‘भाजपा सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को तेज करते हुए, अपनी सबसे गंदी वोट बैंक की राजनीति खेल रही है ताकि सांप्रदायिक हिंदुत्व वोटबैंक को मजबूत कर सके जिससे चुनावी फायदा मिल सके.’

उत्तर प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा के आरोपियों को बचा रही है योगी सरकार : सीताराम येचुरी
सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर बुलंदशहर में हुई भीड़ जनित हिंसा के दोषियों को बचाने और निर्दोषों को पकड़ने का आरोप लगाया है. 

येचुरी ने गुरुवार को संविधान निर्माता डा. भीमराव आंबेडकर की पुण्यतिथि और बाबरी मस्जिद ध्वंस की बरसी पर यहां आयोजित ‘संविधान और धर्मनिरपेक्षता संरक्षण रैली को संबोधित करते हुए कहा कि‘बीजेपी सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को तेज करते हुए, अपनी सबसे गंदी वोट बैंक की राजनीति खेल रही है ताकि सांप्रदायिक हिंदुत्व वोटबैंक को मजबूत कर सके जिससे चुनावी फायदा मिल सके.’

'तमाम निजी सेनाएं उभर कर सामने आई हैं'
येचुरी ने बुलंदशहर हिंसा का जिक्र करते हुये कहा कि तमाम निजी सेनाएं उभर कर सामने आई हैं जिनके माध्यम से लोगों पर हमले हो रहे हैं. उन्होंने कहा ‘उत्तर प्रदेश में सरकार खुद अपने पुलिस अफसर को नहीं बचा पाई. हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय बिना सबूत एकत्र किये निर्दोष लोगों को पकड़ा जा रहा है.’

सीपीएम नेता ने बीजेपी आरएसएस पर लोगों को राजनीतिक स्वार्थ के लिये बांटने का आरोप लगाते हुये कहा ‘पूरे देश में कहीं गाय के नाम पर मुसलमान और दलितों पर हमले हो रहे हैं, कहीं बच्चों को कहते हैं कैसे कपड़े पहनने हैं, कैसा भोजन करना है, किस तरह के लोगों के साथ दोस्ती करना है. ये सब कह कर लोगों को बांटना चाहते हैं.’

उन्होंने बीजेपी पर संविधान द्वारा देश के नागरिकों को प्रदत्त मौलिक अधिकारों को संकट में डालने का आरोप लगाते हुये देश विरोधी ताकतों की इस मुहिम को नाकाम बनाने का आह्वान किया. 

वाम दलों ने मनाया ‘संविधान और धर्मनिरपेक्षता संरक्षण दिवस’
उल्लेखनीय है कि सीपीएम और भाकपा सहित सभी वामदलों ने बृहस्पतिवार को डा. आंबेडकर की पुण्यतिथि और अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस की 26 वीं बरसी को देश भर में ‘संविधान और धर्मनिरपेक्षता संरक्षण दिवस’ के रूप में मनाने की पहल की है. इस मौके पर दिल्ली में वामदलों और विभिन्न सामाजिक संगठनों ने मंडी हाउस से संसद मार्ग तक शांति मार्च का आयोजन किया. 

संसद मार्ग पर आयोजित सभा को येचुरी के अलावा भाकपा के राज्यसभा सदस्य डी राजा, सीपीएम के वरिष्ठ नेता प्रकाश करात और बृंदा करात सहित वामदलों के अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया.

इससे पहले येचुरी ने ट्वीट कर कहा‘आज का दिन बहुत सी बातों की याद दिलाता है. एक तरफ डॉ. आंबेडकर और भारत के लिये उनका योगदान है जिसे हमने संजोया है. दूसरी तरफ 1992 में बीजेपी आरएसएस के अराजक तत्वों द्वारा बाबरी मस्जिद का ध्वंस है. भारत विरोधी ये ताकतों परास्त होंगी.’

डा. अंबेडकर के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये येचुरी ने कहा‘भारत में सभी नागरिकों को एक समान अधिकार प्राप्त हैं. देश के प्रत्येक नागरिक को मिले इस मौलिक अधिकार को निष्प्रभावी बनाने वाली ताकतों के मंसूबे हम कामयाब नहीं होने देंगे.’

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close