सीएम योगी ने किया क्रूज सेवा का उद्घाटन, सोमवार से कर सकेंगे वाराणसी के घाटों की सैर

वाराणसी आने वाले पर्यटक अब आलीशान क्रूज पर सवार होकर गंगा के घाटों और भव्य गंगा आरती का नजारा ले सकेंगे.

सीएम योगी ने किया क्रूज सेवा का उद्घाटन, सोमवार से कर सकेंगे वाराणसी के घाटों की सैर
अलकनंदा क्रूज (फोटो-IANS)

वाराणसी: वाराणसी आने वाले पर्यटक अब आलीशान क्रूज पर सवार होकर गंगा के घाटों और भव्य गंगा आरती का नजारा ले सकेंगे. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को वाराणसी में क्रूज का उदघाटन कर दिया है. मुख्‍यमंत्री योगी ने खिड़किया घाट पर मंत्रोच्चार के बीच अलकनंदा क्रूज का रिबन काटकर शुभारंभ किया. मुख्‍यमंत्री ने इस क्रूज में बैठकर खिड़किया घाट से भैंसासुर घाट तक का सफर भी किया. इसके बाद अब इस क्रूज को आम जनता के लिये खोल दिया गया है. सोमवार से सैलानी अब इस पर सफर कर गंगा आरती का आनंद उठा सकेंगे. 

शादी से लेकर धार्मिक आयोजनों के लिए उपलब्ध रहेगा क्रूज
स्टार्टअप इंडिया के तहत नार्डिक क्रूजलाइन अस्सी घाट से पंचगंगा घाट के बीच डबल डेकर क्रूज का संचालन करेगी. खास बात यह है कि पार्टी, बिजनेस मीटिंग, शादी-विवाह यहां तक कि रुद्राभिषेक जैसे आध्यात्मिक आयोजन भी इसमें कराए जाएंगे. क्रूज का विधिवत उद्घाटन 15 अगस्‍त को ही हो गया था, लेकिन इसके शुभारंभ के लिए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की राह देखी जा रही थी. इससे पूर्व मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने खिड़किया घाट स्‍थित प्राचीन गोवर्द्धन धाम मंदिर में दर्शन पूजन किया.

वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पर हैं सीएम योगी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर वाराणसी आए हुए हैं. योगी आदित्यनाथ ने रविवार को सांसद आदर्श गांव डोमरी में चौपाल भी लगाई. मुख्यमंत्री ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद देश को विकास, सुशासन और सुरक्षा का माहौल दिया है. योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री के साढ़े चार वर्ष के शासन में देश में करोड़ों गरीबों को स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय उपलब्ध कराया गया है. जिन गरीबों के पास छत नहीं थी, उन गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना के माध्यम से आवास उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिन गरीबों के पास बिजली कनेक्शन नहीं थे, उनके गांव में बिजली पहुंचाने का कार्य और उन्हें बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराने का कार्य सौभाग्य योजना के अंतर्गत नि:शुल्क किया जा रहा है. 

(इनपुट भाषा से)