दादा साहेब फाल्के अवार्ड-2018, मेरठ के फोटोग्राफर ज्ञान दीक्षित को भी मिला सम्मान

दादा साहेब फाल्के के 148वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बना कर उन्हें याद किया. दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड-2018 की घोषणा हो चुकी है. मेरठ के रहने वाले फोटोग्राफर ज्ञान दीक्षित को भी अवार्ड सम्मानित किया गया है.

दादा साहेब फाल्के अवार्ड-2018,  मेरठ के फोटोग्राफर ज्ञान दीक्षित को भी मिला सम्मान
पिछले चार दशकों से ज्यादा वक्त से फोटोग्राफी कर रहे हैं ज्ञान दीक्षित. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दादा साहेब फाल्के के 148वें जन्मदिन पर गूगल ने डूडल बना कर उन्हें याद किया. दादा साहेब फाल्के को भारतीय सिनेमा के पिता के रूप में जाना जाता है. हर साल उनके नाम पर दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड का आयोजन किया जाता है. दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड-2018 की घोषणा हो चुकी है. बेस्ट एक्टर लीडिंग रोल का अवार्ड अक्षय कुमार को, जबकि भूमि पेडनेकर को बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड दिया गया है. मोस्ट वर्साटाइल एक्ट्रेस का अवार्ड मनीषा कोइराला को मिला है. बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवार्ड भूमि त्रिवेदी को मिला है. बता दें मेरठ के जाने माने फोटोग्राफर ज्ञान दीक्षित को भी दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन अवार्ड-2018 के लिए चुना गया है. अवार्ड का आयोजन मुंबई में 29 अप्रैल की रात को किया गया.

प्रकाश मेहरा के साथ काम कर चुके हैं ज्ञान दीक्षित
ज्ञान दीक्षित पिछले 43 सालों से फोटोग्राफी कर रहे हैं. ज्ञान दीक्षित ने सबसे पहले फिल्म निर्माता सत्यपाल चौधरी और प्रकाश मेहरा के साथ काम किया. फिल्म निर्माता भी खेकड़ा के रहने वाले थे जो पहले मेरठ में पड़ता था. दोनों कॉलेज के दिनों से दोस्त हैं.ज्ञान दीक्षित ने अपने करियर में दीप्ति भटनागर, अरुण गोविल, माधुरी दीक्षित, कंगना रनौत, प्रिया अरोड़ा, शिमोना, सलोनी जैसे कलाकारों के फोटो शूट किए हैं. इससे पहले उन्हें मेरठ रत्न, यूनिसेफ इंडिया अवार्ड, मातृश्री मीडिया पुरस्कार, छायाकार शिरोमणि, कैमरे का कवि जैसे पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है. दादा साहेब फाल्के अवार्ड दादा साहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन की ओर से हर साल सिनेमा जगत में योगदान करने वालों को दिया जाता है.

7 जून 1944 को हुआ जन्म
ज्ञान दीक्षित का जन्म 7 जून 1944 को एक डॉक्टर फैमिली में हुआ था. वो अपने छह बहन-भाइयो में सबसे बड़े हैं. उन्होंने शुरुआती शिक्षा मेरठ के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज और ग्रैजुएशन की पढ़ाई NAS कॉलेज मेरठ से की.1980 में उन्होंने जेजे स्कूल ऑफ आर्ट्स से फोटोग्राफी में डिप्लोमा किया. वे बॉलीवुड में काम करना चाहते थे, इसलिए उनके घरवाले बहुत परेशान था. फिल्मी दुनिया की तरफ रुझान और मुंबई जाने के सपने को देखते हुए कम उम्र में ही उनकी शादी करा दी गई, लेकिन उनके शौक को देखते हुए पत्नी ने उनका बहुत सहयोग किया. पत्नी ने उन्हें पूरी आजादी दी कि वे अपने सपनों को साकार करें.

दादा साहेब अवार्ड पाक बहुत खुश हूं- ज्ञान दीक्षित
1975 में वो पहली बार मुंबई गए और निर्माता सत्यपाल चौधरी और प्रकाश मेहरा के साथ फिल्मों में शूटिंग करने लगे. शुरुआत दिनों में उन्होंने मायापुरी, हिंदुस्तान और दिल्ली प्रेस की सभी मैगजीन्स के लिए फोटो शूट किए. जाह्नवी मैगजीन में पिछले 28 सालों से उनके कवर पेज फोटोग्राफ छप रहे हैं. दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिलने को लेकर उन्होंने कहा कि मैं काफी खुश हूं. अपनी कामयाबी के लिए उन्होंने पूरे परिवार और मेरठ के लोगों का शुक्रिया अदा किया.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close