यूपी: छुट्टी के दिन बैंक में बजा इमरजेंसी सायरन, पुलिस पहुंची तो चोर नहीं चूहे चढ़े हत्थे

पुलिस क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि अलार्म प्रणाली के नजदीक कुछ चूहों को छोड़कर बैंक में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला. 

यूपी: छुट्टी के दिन बैंक में बजा इमरजेंसी सायरन, पुलिस पहुंची तो चोर नहीं चूहे चढ़े हत्थे
फाइल फोटो

नई दिल्ली/मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के शामली जिले में चूहों के कारण एक बैंक में चोरी का इमरजेंसी सायरन बज गया, जिसके कारण पुलिस और अधिकारियों में अफरा-तफरी मच गई. पुलिस ने बताया कि सोमवार को चूहों के कारण इंडियन बैंक के एक शाखा का इमरजेंसी सायरन बज गया. उन्होंने बताया कि जन्माष्टमी का अवकाश होने के कारण कोई भी बैंक अधिकारी शाखा में मौजूद नहीं था.

पुलिस क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि स्थानीय लोगों ने शाखा प्रबंधक और पुलिस को इसकी सूचना दी जो घटनास्थल पर पहुंचे. कुमार ने बताया कि अलार्म प्रणाली के नजदीक कुछ चूहों को छोड़कर बैंक में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला. 

Due to rats, Emergency siren blew up in indian bank Muzaffarnagar

आपको बता दें कि 18 जून ये खबर सामने आई थी कि असम के तिनसुकिया में चूहों का आतंक उस वक्त परेशानी का सबक बन गए, जब एसबीआई के एटीएम के भीतर घुसकर, उन्होंने 12 लाख रुपए के नोटों को रद्दी बना दिया. दरअसल, 20 मई को लाईपुली के एसबीआई एटीएम को तकनीकी खामी की वजह से अचानक बंद करना पड़ा था. एटीएम ठीक करने के लिए रिपेयरमैन पहुंचा तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गई. क्‍योंकि चूहे 12 लाख रुपये कुतर चुके थे. 500 और 2 हजार के नोट के टुकड़े जमीन पर पड़े हुए थे. बैंक अधिकारियों के मुताबिक, चूहों ने करीब 12,38,000 रुपए को रद्दी कर दिया था.

आपको बता दें कि इस एटीएम का संचालन गुवाहाटी स्थित वित्तीय कंपनी ‘एफआईएल-ग्लोबल बिजनेस सॉल्यूशंस’ के जिम्मे था. उसने 19 मई को एटीएम में कुल 29 लाख रुपये डाले थे. उसके अगले ही दिन एटीएम ने काम करना बंद कर दिया था. एक बैंक अधिकारी ने कहा कि हम लगभग 17 लाख रुपये बचा पाए, लेकिन करीब 12 लाख रुपये चूहों ने बर्बाद कर दिए.