गोरखपुर हादसा: योगी सरकार पर बरसे अखिलेश, कहा- ऑक्सीजन की कमी से ही हुई बच्चों की मौत

अखिलेश यादव ने कहा, "मजिस्ट्रेट जांच का कोई मतलब नहीं. यह समय इस्तीफा मांगने का नहीं, बच्चों की जान बचाने का है. समाजवादी एंबुलेस काम आ रही है." 

गोरखपुर हादसा: योगी सरकार पर बरसे अखिलेश, कहा- ऑक्सीजन की कमी से ही हुई बच्चों की मौत
पत्रकारों से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि सरकार बच्चों की जान जाने का कारण नहीं बता पा रही है. (एएनआई फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के बीआरडी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत मामले में समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार (12 अगस्त) को योगी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से हुई है. आनन-फानन में आयोजित प्रेसवार्ता में अखिलेश ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, "मृतकों के परिजनों को लाश देकर भगा दिया गया, यही नहीं मृतक बच्चों का पोस्टमार्टम तक नहीं हुआ है. योगी सरकार ने यह सब सच्चाई छुपाने के लिए किया है. बच्चों की मौत से मैं दुखी हूं." सपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि सरकार बच्चों की जान जाने का कारण नहीं बता पा रही है. सरकार मौतों को छिपा रही है. उन्होंने कहा कि मृतक बच्चों के परिजनों को पीछे से बाहर निकाला जा रहा था.

अखिलेश ने कहा, "मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से ही हुई है. अगर मुख्यमंत्री स्तर पर समीक्षा में ऑक्सीजन का भुगतान न होने की बात सामने नहीं आई तो गलती किसकी. हो सकता है कि कमीशन की वजह से ऑक्सीजन का भुगतान न हुआ हो." उन्होंने कहा, "मजिस्ट्रेट जांच का कोई मतलब नहीं. यह समय इस्तीफा मांगने का नहीं, बच्चों की जान बचाने का है. समाजवादी एंबुलेस काम आ रही है." 

अखिलेश ने बलिया के रागिनी हत्याकांड का मामला भी उठाया और कहा कि लड़की कई दिनों से छेड़खानी की शिकायत कर रही थीं, लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया. उन्होंने कहा, "प्रदेश सरकार अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है. इसलिए विपक्ष पर ही इस मुद्दे को लेकर राजनिति करने का आरोप लगा रहे हैं. विपक्ष ने उनका कौन-सा काम रोक दिया या कौन-सी योजना को लेकर धरना दिया. भाजपा के लोगों की करनी और कथनी में अंतर है."

गोरखपुर अस्पताल में 33 बच्चों की मौत की जांच करेगी सपा

समाजवादी पार्टी (सपा) ने गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से 33 बच्चों की मौत मामले की जांच के लिए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी के नेतृत्व में छह सदस्यीय जांच दल गोरखपुर भेजा है. जांच कमेटी घटना की जांच कर 13 अगस्त तक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगा. सपा के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने शनिवार (12 अगस्त) को बताया, "पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देशानुसार गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कॉलेज में 10 व 11 अगस्त को कई दर्जन बच्चों की मौत की हृदय विदारक घटना की जांच के लिए विधानसभा में सपा के नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी के नेतृत्व में छह सदस्यीय जांच दल गठित किया गया है."

जांच कमेटी में चौधरी के अलावा पूर्वमंत्री ब्रह्माशंकर त्रिपाठी, एमएलसी संतोष यादव 'सनी', पूर्व राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह, जिलाध्यक्ष प्रह्लाद यादव एवं महानगर अध्यक्ष जियाउल इस्लाम शामिल हैं. चौधरी ने बताया कि जांच दल तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हो गया है. वह घटना की जांच कर 13 अगस्त तक राष्ट्रीय अध्यक्ष को अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगा.

(इनपुट एजंसी से भी)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close