राजनाथ सिंह ने कहा,'एजेंसियां भगोड़े लोगों के खिलाफ प्रभावी कदम उठा रही हैं'

गृह मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार बैंक के साथ धोखाधड़ी करके देश से भागने वाले भगोड़ों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई कर रही है और भविष्य में भी इसी तरह की कार्रवाई होगी.

राजनाथ सिंह ने कहा,'एजेंसियां भगोड़े लोगों के खिलाफ प्रभावी कदम उठा रही हैं'
गृहमंत्री राजनाथ सिंह (फाइल फोटो)

कानपुर (उप्र): केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि केंद्रीय एजेंसियां बैंक के साथ धोखाधड़ी करने वाले आरोपी मेहुल चोकसी और उन अन्य लोगों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई कर रही हैं जो देश छोड़कर फरार हो गए हैं. चोकसी के हालिया वीडियो के जवाब में सिंह ने बताया कि इतिहास में पहली बार सरकार ने ऐसे भगोड़े को पकड़ने के लिए कड़े कानून लागू कर दिए हैं. 

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उनकी सरकार बैंक के साथ धोखाधड़ी करके देश से भागने वाले भगोड़ों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई कर रही है और भविष्य में भी इसी तरह की कार्रवाई होगी.

मंत्री से जब केरल के स्वतंत्र विधायक पी सी जॉर्ज की एक नन के खिलाफ की गई टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जनता के चुने हुए प्रतनिधि द्वारा की गई अपमानजनक टिप्पणी मौजूदा समय की राजनीति के गिरते मानक को दर्शाती है. इस नन ने एक बिशप पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. गृह मंत्री ने कहा कि इस पर कार्रवाई करने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है. 

'देश विश्वगुरू बनने की ओर अग्रसर' 
केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि हमारा देश विश्वगुरू बनने की ओर अग्रसर है और भारत को विश्वगुरू बनाने में युवाओं को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए . गृहमंत्री ने एक किताब की चर्चा करते हुए आईटी कंपनी इन्फोसिस और आतंकवादी संगठन अल कायदा के बीच के अंतर को समझाया. उन्होंने कहा कि दोनों ही जगहों पर शिक्षित और समर्पित युवा काम करते हैं लेकिन फर्क सिर्फ नैतिक मूल्यों का है. नैतिक मूल्य नहीं होने से अलकायदा से जुडे युवा विध्वंसक बन गए. 

गृहमंत्री ने ज्ञान के सदुपयोग को समझाते हुए कहा कि अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले में शामिल विमान का पायलट शिक्षित था, लेकिन उसने लोगों की जानें लीं . राजनाथ सिंह छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय के 33वें दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रहे थे.  उन्होंने कहा कि देश मजबूत अर्थव्यवस्था बन कर उभर रहा है. भारत की ताकत राष्ट्रवाद, सांस्कृतिक विरासत और एकता है.

(इनपुट - भाषा)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close