विपक्ष को एकजुट करने के लिए सोनिया गांधी का डिनर आज, ममता ने बनाई दूरी

यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को रोकने के लिए पूरे विपक्ष को एकजुट करने की पुरजोर कोशिश कर रही हैं. 

विपक्ष को एकजुट करने के लिए सोनिया गांधी का डिनर आज, ममता ने बनाई दूरी
सोनिया ने दिल्ली में विपक्षी दलों के नेताओं को डिनर पर बुलाया है. (तस्वीर साभार- PTI)

नई दिल्ली: यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को रोकने के लिए पूरे विपक्ष को एकजुट करने की पुरजोर कोशिश कर रही हैं. इसके लिए आज (मंगलवार को) उन्‍होंने दिल्ली में सभी विपक्षी दलों के नेताओं को डिनर पर बुलाया है. इस भोज में 17 पार्टियों के नेताओं के पहुंचने की संभावना है.

टीडीपी, बीजद और टीआरएस को निमंत्रण नहीं- सूत्र
कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, आंध्र प्रदेश की सत्तारुढ़ तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी), बीजू जनता दल (बीजद) और टीआरएस के नेताओं को नहीं बुलाया गया है. टीडीपी ने हाल ही में आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा देने के मुद्दे पर मोदी कैबिनेट में शामिल अपने सभी मंत्रियों को हटा लिया है, लेकिन वह एनडीए की सहयोगी बनी हुई है.

बाबूलाल मरांडी, हेमंत सोरेन, जीतन राम मांझी होंगे शामिल
सूत्रों के मुताबिक, सोनिया गांधी के इस डिनर में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और झारखंड विकास मोर्चा के नेता बाबूलाल मरांडी, झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी शामिल होंगे. मांझी ने हाल ही में एनडीए का साथ छोड़कर लालू प्रसाद के राजद के साथ हाथ मिला लिया है.

पढ़ें- विपक्ष को करारा झटका, सोनिया की डिनर पार्टी से ममता ने बनाई दूरी

ममता बनर्जी ने खुद को किया इस डिनर से दूर
विपक्ष को लामबंद करने की सोनिया गांधी की कोशिश को उस समय झटका लगा जब पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खुद को इस डिनर से दूर कर लिया. हालांकि उनकी पार्टी टीएमसी से सुदीप बंदोपाध्याय और डेरेक ओ-बरायन शामिल होंगे.

इस भोज में लालू प्रसाद के बेटे और बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के पहुंचने की संभावना है. साथ ही द्रमुक की कनिमोई, सपा के रामगोपाल यादव, माकपा के सीताराम येचुरी, भाकपा के डी राजा, जेडीएस, केरल कंग्रेस, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, रिवोल्युशनरी सोशलिस्ट पार्टी और रालोद के नेता भाग ले सकते हैं.

(भाषा इनपुट के साथ)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close