उपहार अग्निकांडः गोपाल अंसल को नहीं मिली राहत, जाना होगा जेल

Last Updated: Monday, March 20, 2017 - 15:16
उपहार अग्निकांडः गोपाल अंसल को नहीं मिली राहत, जाना होगा जेल
उपहार अग्निकांडः गोपाल अंसल को नहीं मिली राहत, जाना होगा जेल (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः साल 1997 में हुए दिल्ली के उपहार सिनेमा अग्निकांड मामले के दोषी गोपाल अंसल को आज सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा. सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें सरेंडर करने के लिए और वक्त देने से इनकार कर दिया. कोर्ट में अंसल की ओर से वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाई है, इसलिए उन्हें सरेंडर करने के लिए और वक्त दिया जाए.

कोर्ट ने इस मांग को खारिज कर दिया. इसके पहले 9 मार्च को कोर्ट ने पुनर्विचार याचिका पर फैसले में संशोधन की मांग वाली उनकी याचिका भी खारिज कर दी थी. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब गोपाल अंसल को आज ही कोर्ट में सरेंडर करना होगा.

सुप्रीम कोर्ट ने दोषी अंसल बंधुओं पर लगाया 60 करोड़ का जुर्माना

पिछले 9 फरवरी को कोर्ट ने गोपाल अंसल को 1 महीने का वक्त दिया था. लेकिन अभी तक अंसल ने कोर्ट के आदेश का पालन नहीं किया है.फरवरी में कोर्ट ने उपहार सिनेमा अग्निकांड मामले में गोपाल अंसल को एक साल की सजा सुनाई थी. हालांकि इस मामले के अन्य दोषी सुशील अंसल की उम्र को देखते हुए उनकी सजा माफ कर दी गई थी.

उपहार अग्निकांड केसः गोपाल अंसल को एक साल की सजा

नवंबर 2015 में सुप्रीम कोर्ट ने 1997 के इस मामले में उन्हें तीन महीने के भीतर 30-30 करोड़ रुपये का जुर्माना अदा करने का निर्देश दिया गया था. सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच ने उम्र के आधार पर कहा था कि जुर्माना ना देने की सूरत में 2 साल जेल की सजा दी जाएगी.सुशील अंसल पांच महीने जबकि गोपाल अंसल चार महीने की सजा काट चुके हैं. इससे पहले दो जजों की बेंच ने अलग अलग फैसले सुनाए जिसकी वजह से मामले को तीन जजों की बेंच में भेजा गया था. 

गौरतलब है कि जून 1997 में हिन्दी फिल्म ‘बॉर्डर’ के प्रदर्शन के दौरान हुए इस अग्निकांड में 59 दर्शकों की मृत्यु हो गई थी. जिसमें करीब दो दर्जन बच्चे शामिल थे. मामले में रियल स्टेट कारोबारी और उपहार सिनेमा के मालिक अंसल बंधुओं को लापरवाही बरतने का दोषी करार दिया.

ज़ी न्यूज़ डेस्क

First Published: Monday, March 20, 2017 - 15:16
comments powered by Disqus