ज़ी जानकारी: Seat Belt लगाना है क्यों जरुरी ये विश्लेषण देखकर समझ जायेंगे

ज़ी जानकारी: Seat Belt लगाना है क्यों जरुरी ये विश्लेषण देखकर समझ जायेंगे

अगर आप गाड़ी चलाते वक्त Seat Belt नहीं लगाते है और अगर आपके बच्चे या परिवार का कोई सदस्य गाड़ी की पीछे की Seat पर बैठने की वजह से Seat Belt लगाना उचित नहीं समझता तो ये बहुत ख़तरनाक हो सकता है. हमारे पास एक Shocking Video है. ये Video देखते वक्त आपको अपनी ग़लती का अहसास भी होगा और तेज़ झ़टके भी लगेंगे.ये Video चीन का है और आपने देखा, कि जैसे ही दो गाड़ियां आपस में टकराती हैं तो उनमें से एक गाड़ी का पीछे वाला हिस्सा अचानक खुल जाता है.

और Seat के पीछे बैठे दोनों बच्चे हवा में उछलते हुए बीच सड़क पर गिर जाते हैं. इस दुर्घटना के वक्त इन दोनों ही बच्चों ने Seat Belt नहीं लगाई थी..और वो पीछे की Seat पर बैठकर खेल रहे थे. हालांकि, राहत की बात ये है, कि इन दोनों ही बच्चों को मामूली चोटें लगी हैं. लेकिन, ये मामला और ज़्यादा गंभीर भी हो सकता था...और इन बच्चों की जान भी जा सकती थी.

दुनियाभर में 80 फीसदी Children Saftey Seats का निर्माण चीन में होता है.लेकिन खुद चीन में 1 प्रतिशत से भी कम लोग इसका इस्तेमाल करते हैं.वर्ष 2016 में हुए एक सर्वे के मुताबिक, चीन में 20 फीसदी से भी कम माता-पिता अपनी कार में Child Safety Seats का इस्तेमाल करते हैं.आंकड़ों के मुताबिक, चीन में प्रति वर्ष 14 साल या उससे कम उम्र के साढ़े 18 हज़ार बच्चे सड़क दुर्घटना में मारे जाते हैं.

वैसे हमारे देश में भी कई लोग ऐसे हैं, जो Seat Belts को ना बांधकर.. गर्व महसूस करते हैं.. और ये समझते हैं कि कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता.ऐसे सभी लोगों को ये बात पता होनी चाहिए, कि अगर आप गाड़ी चलाते वक्त Seat Belt नहीं पहनते हैं, तो सड़क दुर्घटना के वक्त झटके की वजह से आप गाड़ी के बाहर गिर सकते हैं. और इसकी आशंका Seat Belt लगाने वालों के मुक़ाबले 30 गुना ज़्यादा होती है.WHO के मुताबिक, Front Seat पर बैठने वाले लोग अगर Seat Belt पहन लें, तो दुर्घटना की स्थिति में उनकी मौत का ख़तरा 40 से 50 फीसदी तक कम हो जाता है.

पीछे की Seat पर बैठने वाले लोगों के लिए ये ख़तरा 25 से 75 फीसदी कम हो सकता है. लेकिन इसके लिए उन्हें सीट बेल्ट लगानी होगी. हमारे देश में Speed Limits, Helmets और Seat Belts पहनने को लेकर कड़े क़ानून तो हैं, लेकिन कोई उसका पालन नहीं करता. WHO के मुताबिक Speed Limits के पालन को लेकर भारत को 10 में से 3 नंबर मिले हैं.Helmet और Seat Belt पहनने के मामले में भारत को 10 में से 4 नंबर दिए गए हैं.

आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2016 में प्रतिदिन 28 लोगों की मौत सिर्फ इसलिए हुई, क्योंकि उन्होंने Helmet नहीं पहना था. जबकि इसी दौरान Seat Belt ना पहनने की वजह से प्रतिदिन 15 लोगों की मौत हुई थी. सड़क दुर्घटनाओं के शिकार युवाओं में Helmet न पहनने वाले और कार में Seat Belt ना बांधने वाले युवाओं की संख्या ज़्यादा है.

इसलिए, हम आपसे अपील करेंगे कि अपने जीवन की क़ीमत को समझें. और Bike चलाते वक्त Helmet ज़रूर पहनें और Car चलाते वक्त Seat Belt का इस्तेमाल ज़रुर करें आप जीवित और सुरक्षित रहेंगे तो अपने लिए और देश के लिए बहुत कुछ कर पाएंगे. इसलिए आज से ही अपनी आदतें बदल लीजिए और समझदार बन जाइए. आपकी जान बचाने की ज़िम्मेदारी सरकार की नहीं आपकी खुद की है.

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close