Zee Jankari : ट्रैफिक जाम से हलकान हुई दिल्ली, समय और पैसे की बर्बादी Zee Jankari : ट्रैफिक जाम से हलकान हुई दिल्ली, समय और पैसे की बर्बादी

जिस देश की राजधानी ही समस्याओं की राजधानी हो उस देश का क्या हाल होगा? इसका अंदाज़ा लगाया जा सकता है। गुरुवार को हमने आपको दिखाया था कि किस तरह से दिल्ली बीमार है और किस तरह से राजनीति के चक्कर में नेताओं ने दिल्ली का बुरा हाल कर दिया है। हम दिल्ली की जाम हो चुकी नसों का डीएनए टेस्ट करेंगे क्योंकि ढाई करोड़ से ज़्यादा की आबादी वाले इस शहर की जान ट्रैफिक जाम में ही फंसी रहती है। सवाल ये है कि ट्रैफिक जाम से दिल्ली की जान को कौन छुड़ाएगा क्योंकि अब दिल्ली हाईकोर्ट ने भी ये कह दिया है कि दिल्ली में ट्रैफिक जाम से निपटने के लिए अब हेलीकॉप्टर तैनात करने पड़ जाएंगे। जिस तरह से दिल्ली ट्रैफिक जाम में फंसी रहती है उसमें किसी इमरजेंसी की स्थिति में क्या होगा? ऐसे कई गंभीर सवाल दिल्ली हाईकोर्ट ने सरकार और सिस्टम से पूछे हैं।

Zee Jankari : रेल यात्रियों में सिविक सेंस की भारी कमी Zee Jankari : रेल यात्रियों में सिविक सेंस की भारी कमी

सच चाहे जितना भी कड़वा हो लेकिन सच हमेशा सच ही होता है और समाज को सच का आईना दिखाना ज़ी न्यूज़ अपना फर्ज़ समझता है। फिर चाहे ये बात आपको थोड़ी कड़वी ही क्यों न लगे, हमारी कोशिश होती है कि समाज अपनी बुराइयों को पहचानकर उनसे मुक्ति पाए। ऐसी कोशिश हम पहले भी करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। अभी दो दिन पहले ही हमने आपको दिखाया था कि किस तरह भारत की गंदगी पसंद जनता ने 14 घंटे के अंदर चमचमाती हुई महामना एक्सप्रेस की सूरत बिगाड़ दी थी। यात्रियों ने एक आधुनिक सुविधाओं वाली ट्रेन को अपनी आदतों और हरकतों से बुरी तरह ज़ख्मी कर दिया था लेकिन बात सिर्फ स्वच्छता पर ही खत्म नहीं होती। दुख की बात ये भी है कि लापरवाह यात्री अकसर ट्रेन की पटरियों पर अपने आप को भी ज़ख्मी कर लेते हैं और अपने साथ-साथ दूसरों की जान के दुश्मन भी बन जाते हैं। यानी ट्रेन में सफर करने वाले भारत के लोग ट्रेन की व्यवस्थाओं को ध्वस्त करने में कोई हिचक नहीं होती और इसके साथ साथ वो अपनी और दूसरों की जान भी जोखिम में डाल देते हैं। हम इन दोनों पहलुओं पर बात करेंगे। आप इसे भारत की गैरज़िम्मेदार जनता के डीएनए टेस्ट का पार्ट -2 भी कह सकते हैं।

संसद में गतिरोध खड़ा कर रहा है गांधी परिवार, काम में पैदा कर रहा विघ्न : पीएम मोदी संसद में गतिरोध खड़ा कर रहा है गांधी परिवार, काम में पैदा कर रहा विघ्न : पीएम मोदी

उत्‍तर-पूर्व के दौरे पर शुक्रवार को गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के डिब्रूगढ़ में बीजेपी के लिए चुनावी शंखनाद किया। संसद में बाधा के लिए गांधी परिवार को जिम्मेदार ठहराते हुए आरोप लगाया कि वे लोकसभा चुनाव में हार का बदला ले रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि मेरा विरोध करने वालों में भी विपक्षी दलों में ऐसे नेता हैं जो चाहते हैं कि संसद में कामकाज हो लेकिन एक परिवार राज्यसभा में कामकाज नहीं चलने देने पर अड़ा हुआ है। विपक्ष में ऐसे नेता हैं जो संसद को चलने देना चाहते हैं जबकि वे मेरा विरोध करते हैं, लेकिन एक परिवार राज्यसभा को न चलने देने पर अड़ा है।