कर्नाटक इफेक्ट: कांग्रेस बोली - गोवा में हमें सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए

कर्नाटक में सरकार गठन को लेकर चल रही सियासी उठापटक के बीच कांग्रेस ने पलटवार किया है. 

कर्नाटक इफेक्ट: कांग्रेस बोली - गोवा में हमें सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए
कांग्रेस का दावा कि वह सबसे बड़ी पार्टी है, इसलिए उसे सरकार बनाने का मौका मिले.
Play

नई दिल्ली: कर्नाटक में सरकार गठन को लेकर चल रही सियासी उठापटक के बीच कांग्रेस ने पलटवार किया है. कांग्रेस का दावा कि वह सबसे बड़ी पार्टी है, इसलिए उसे सरकार बनाने का मौका मिले. कुछ इसी तरह का सियासी ड्रामा बिहार में भी देखने को मिल रहा है. आरजेडी नेता तेजस्वी यादव राज्यपाल से मिलने वाले हैं. पार्टी का कहना है कि चूंकि आरजेडी सबसे बड़ी पार्टी है, इसलिए उसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाना चाहिए.  उधर, न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, गोवा कांग्रेस प्रभारी आज गोवा पहुंच रहे हैं. वह पार्टी के अन्य नेताओं के साथ राज्यपाल से मुलाकात करेंगे. यदि आवश्यक हुआ तो पार्टी के विधायकों की परेड कराई जाएगी. 

गोवा कांग्रेस के प्रवक्ता यतीश नाइक ने कहा 2017 में, हमने 17 सीटें जीती थीं और हम सबसे बड़ी पार्टी थे लेकिन राज्यपाल ने हमें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित नहीं किया. बीजेपी के पास 13 सीटें थी, उसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया गया. चूंकि कर्नाटक में बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण सरकार बनाने के लिए पहले मौका दिया गया है, इसलिए हम राज्यपाल से अपील करते हैं कि वह हमें भी उसी तर्ज पर सरकार बनाने का मौका दें. 

 

गोवा में पिछले साल मार्च में 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में कांग्रेस 17 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. उसके पास बहुमत से चार सीटें कम थीं. राज्य में बीजेपीको 14 सीट मिली थीं और उसने गोवा फॉरवर्ड पार्टी तथा एमजीपी के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. इन दोनों दलों को तीन - तीन सीट मिली थीं. तीन निर्दलीय भी बीजेपीके पाले में चले गए थे. 

BJP ने कर्नाटक में किया दो MLA का 'जुगाड़', बहुमत के करीब पहुंची!

उधर, कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कर्नाटक के राज्यपाल पर निशाना साधते हुए कहा कि वजुभाई वाला ने नरेंद्र मोदी के लिए अपनी सीट कुर्बान की थी, कल उन्होंने संविधान और लोकतंत्र उनके लिए कुर्बान कर दिया. उन्होंने संविधान पर पहला हमला कल किया जब उन्होंने बीजेपी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया. आज जब बीएस येदियुरप्पा ने शपद थी, तब उन्होंने दूसरी बार संविधान पर हमला किया. 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close