घर बैठे गर्भ में पल रहे बच्चों की धड़कन सुन सकेगी मां, नहीं जाना पड़ेगा अस्पताल

इससे गर्भावस्था के दौरान जन्मजात विकारों का पता लगाया जा सकता है या किन्हीं जटिलताओं के कारण समयपूर्व प्रसव की आशंका के चलते तुरंत इलाज की जरूरत का पता लगाया जा सकता है.

घर बैठे गर्भ में पल रहे बच्चों की धड़कन सुन सकेगी मां, नहीं जाना पड़ेगा अस्पताल
फाइल फोटो

लंदन : अब महिलाएं गर्भ में पल रहे अपने बच्चे की दिल की धड़कन को घर बैठे ही नाप सकती हैं. वैज्ञानिकों ने ऐसा ऐसा सेंसर बनाया है जिससे गर्भवती महिलाएं घर में ही बच्चे की दिल की धड़कनों का पता लगा सकती हैं.

गर्भावस्था के दौरान पता चलेंगे जन्मजात विकार
ब्रिटेन में ससेक्स विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने इस सेंसर को ईजाद किया है. इससे गर्भावस्था के दौरान जन्मजात विकारों का पता लगाया जा सकता है या किन्हीं जटिलताओं के कारण समयपूर्व प्रसव की आशंका के चलते तुरंत इलाज की जरूरत का पता लगाया जा सकता है.

इन महिलाओं के लिए होगी काफी फायदेमंद
यह तकनीक उन महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद हैं जो गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप, मधुमेह, प्रीक्लैम्प्सिया और खून में शर्करा की अधिक मात्रा से पीड़ित होती हैं. इस तरह की परेशानियों से गुजर रही गर्भवती महिलाओं को अपने बच्चे के स्वास्थ्य पर नियमित तौर पर चिकित्सीय निगरानी की जरूरत होती है.

मां और बच्चे दोनों की सेहत के लिए अच्छा डिवाइस- विश्वविद्यालय
विश्वविद्यालय में व्याख्याता एलिजाबेथ रेंडन मोराल्स ने कहा, ‘‘अभी स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों से जूझ रही गर्भवती महिलाओं को अपने बच्चे की धड़कन की जांच कराने के लिए अस्पताल जाना पड़ता है. लेकिन इस नई तकनीक से वे घर बैठे ही धड़कन नाप सकेंगी जो मां और बच्चे दोनों की सेहत के लिए अच्छा है.’’ 

(इनपुटःभाषा)