कोयले पर 40,000 करोड़ का निवेश

Last Updated: Sunday, October 2, 2011 - 12:52

दिल्लीः कोल इंडिया 12वीं पंचवर्षीय योजना 2012-17 में 40 हजार करोड़ रुपए निवेश की योजना बनाई है. यह निवेश उत्पादन बढ़ाने के लिए खदानों के विकास पर किया जाएगा.

कोल इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन एनसी झा ने बताया कि 40 हजार करोड़ रुपए का निवेश विभिन्न चरणों में करने का लक्ष्य रखा गया है. 11वीं योजना में 35 हजार करोड़ रुपए के निवेश का लक्ष्य रखा था. इस योजना अवधि तक 25 हजार करोड़ रुपए खर्च होने का उम्मीद है.

चेयरमैन ने कहा कि निजी खदानों को मिलाकर देश में कोयले का उत्पादन 2016-17 तक 70 करोड़ टन रहने का अनुमान है. जबकि देश में इस अवधि तक 96 करोड़ टन कोयले की मांग होगी. इसीलिए इस मांग को पूरा करने के लिए विदेशों से आयात करना होगा.





comments powered by Disqus