‘चावल-गेहूं का निर्यात रोकने की जरूरत नहीं’

Last Updated: Saturday, July 21, 2012 - 18:36

नई दिल्ली : सरकार ने शनिवार को कहा कि बारिश कम होने के मद्देनजर चावल और गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि देश के पास पर्याप्त भंडार है।
बंपर उत्पादन को देखते हुए सरकार चावल, गेहूं, चीनी, कपास और मक्का सहित विभिन्न कृषि जिंसों का निर्यात कर रही है।
कृषि सचिव आशीष बहुगुणा ने संवाददाताओं को बताया, मुझे नहीं लगता कि चिंता करने की कोई वजह है। फिलहाल, खाद्द्यान्न की उपलब्धता के बारे में कोई समस्या नहीं है और मैं नहीं समझता कि हमें निर्यात रोकने की जरूरत है।
उन्होंने कहा, अगर भारत अंतरराष्ट्रीय बाजार में एक स्थायी व्यापारी बनना चाहता है कि हमें निर्यात जारी रखना होगा।
देश में अभी तक बारिश 22 प्रतिशत कम रही है जिससे खरीफ फसलों की बुवाई प्रभावित हुई है। कम बारिश ने फसल उत्पादन पर संभावित असर को लेकर चिंता पैदा कर दी है।
पिछले साल, देश में अच्छी बारिश हुई थी जिससे किसानों को रिकार्ड 25.74 करोड़ टन खाद्यान्न का उत्पादन करने में मदद मिली। (एजेंसी)



First Published: Saturday, July 21, 2012 - 18:36


comments powered by Disqus