शाहरूख पर केस दर्ज, कहा-नहीं मांगूंगा माफी

Last Updated: Thursday, May 17, 2012 - 12:38

मुंबई : बॉलीवुड अभिनेता और कोलकाता नाइट राइडर्स टीम के मालिक शाहरूख खान के खिलाफ एमसीए अधिकारियों के साथ मारपीट और बदसलूकी के आरोप में केस दर्ज कर लिया गया है। यह केस मरीन ड्राइव थाने में आईपीसी की धारा 303 और 506 के तहत केस दर्ज करवाया गया है। इस केस में शाहरूख के अलावा तीन और लोगों को भी नामजद किया गया है। शाहरुख ने इन खबरों का खंडन किया, जिनमें कहा जा रहा है कि बुधवार रात को वानखेड़े स्टेडियम में क्रिकेट अधिकारियों के साथ हुई नोकझोंक के दौरान उन्होंने शराब पी रखी थी। शाहरुख ने कहा कि मैंने शराब नहीं पी रखी थी। मैं इस तरह शराब नहीं पीता। सेलीब्रिटियों पर यह आरोप लगाना सबसे आसान है कि उसने शराब के नशे में या फिर गुस्से में इस तरह का काम किया है।
वानखेड़े स्टेडियम पर एमसीए अधिकारियों के साथ बदसलूकी के कारण विवादों में घिरे शाहरूख खान ने झगड़ पर अपनी सफाई दी। शाहरूख ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि मैने कोई गलती नहीं की और ना ही मैं नशे की हालत में था। मैं बस अपने बच्चों का बचाव कर रहा था। एमसीए अधिकारियों को मुझसे माफी मांगनी चाहिये। वहां सुरक्षाकर्मियों और एमसीए अधिकारियों ने सुरक्षा का हवाला देकर बच्चों के साथ बदसलूकी की जो मैं बर्दाश्त नहीं कर सका। शाहरुख खान ने कहा कि मैं इस बात से इंकार नहीं करता कि मैंने गुस्से में कुछ कहा होगा लेकिन मैं इसके लिए माफी नहीं मांगूगा। शाहरुख ने यह भी कहा कि मुम्बई क्रिकेट संघ (एमसीए) के अधिकारियों को इस बात के लिए भी माफी मांगनी चाहिए कि उनकी मौजूदगी के बावजूद वानखेड़े में बच्चों के साथ बुरा बर्ताव किया गया।

शाहरुख ने कहा कि मैं नहीं समझता कि मेरा बर्ताव गलत था फिर मैंने कोई गैरकानूनी काम नहीं किया है। मैं समझता हूं कि मैंने जो किया वह सही था। वे मेरे बच्चे हैं और उनके प्रति मेरी जिम्मेदारी है। मैं किसी भी हाल में उस घटना के लिए माफी नहीं मांगूगा।

 

एमसीए द्वारा वानखेड़े स्टेडियम में उनके प्रवेश पर आजीवन प्रतिबंध के सवाल पर उन्होंने कहा कि यदि मेरे साथ वहां इस तरह का सलूक होगा तो मैं खुद ही जाना नहीं चाहूंगा। मैं मैच देखने नहीं बल्कि अपने बच्चों को स्टेडियम से लेने गया था। शाहरूख ने हालांकि स्वीकार किया कि उन्होंने अपशब्दों का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि वो लोग भी बहुत बदतमीजी से बात कर रहे थे लिहाजा मैने भी अपशब्दों का इस्तेमाल किया।

 

उधर, मुम्बई के पुलिस उपायुक्त (एसीपी) इकबाल शेख ने इस बात की पुष्टि की कि शाहरुख खान ने बुधवार रात नशे की हालत में वानखेड़े स्टेडियम में मुम्बई क्रिकेट संघ (एमसीए) के अधिकारियों के साथ बदसलूकी की थी। शेख ने गुरुवार को कहा कि शाहरुख नशे में थे। उनके मुंह से शराब की बू आ रही थी लेकिन वह शराब बाहर से पीकर आए थे। वह नशे की हालत में एमसीए और बीसीसीआई अधिकारियों को धमकी दे रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को अपशब्द भी कहे थे। पुलिस ने कहा कि वे जांच में सीसीटीवी की फुटेज लेंगे और इसे देख रहे हैं। पुलिस ने कहा कि घटना के समय शाहरूख के साथ मोरानी ब्रदर्स भी मौजूद थे।

 

नाइटराइडर्स द्वारा मुम्बई इंडियंस को हराने के बाद शाहरुख की बीसीसीआई और एमसीए अधिकारियों के साथ कहासुनी हुई थी। शाहरुख और उनके साथी पुरस्कार वितरण समारोह स्थल के पास जाकर जीत का जश्न मनाना चाहते थे लेकिन उन्हें ऐसा नहीं करने दिया गया। शाहरुख का गुस्सा उस समय सातवें आसमान पर पहुंच गया, जब एमसीए अधिकारियों ने फ्लड लाइट बुझा दी। इस घटना से नाराज एमसीए शाहरुख पर वानखेड़े स्टेडियम में प्रवेश पर आजीवन प्रतिबंध लगाने के बारे में सोच रहा है।

 

उल्लेखनीय है कि एमसीए सदस्यों ने मुम्बई के मैरीन ड्रॉइव पुलिस स्टेशन में शाहरुख के खिलाफ एक मामला दर्ज कराया है। सदस्यों का कहना है कि शाहरुख ने बुधवार को स्टेडियम में उनके साथ बदसलूकी की थी। शाहरुख पर एक सुरक्षाकर्मी के साथ बदसलूकी करने और उसे धक्का देने का आरोप है। आरोप यह भी है कि इस मामले में जब एमसीए अधिकारियों ने दखल दिया तब शाहरुख ने उन्हें अपशब्द कहे थे।

(एजेंसी)



First Published: Friday, May 18, 2012 - 12:14


comments powered by Disqus