हरभजन को BCCI ने दिया झटका

Last Updated: Saturday, October 27, 2012 - 13:33

नई दिल्ली : आफ स्पिनर आर. अश्विन ने बीसीसीआई की केंद्रीय रिटेनरशिप अनुबंध की सूची के शीर्ष ब्रैकेट में खराब फार्म में चल रहे सीनियर आफ स्पिनर हरभजन सिंह की जगह ले ली जबकि तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को ए ग्रेड से नीचे बी में कर दिया गया। बीसीसीआई ने आज क्रिकेटरों के साथ सालाना कांट्रैक्ट की घोषणा कर दी।
बीसीसीआई द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार एलीट ग्रेड ए में इस साल नौ खिलाड़ी हैं जो पिछले साल से तीन कम हैं। संन्यास ले चुके राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण इस सूची से ही बाहर हो गए हैं, जिससे अश्विन ही शीर्ष समूह में नया नाम हैं। इस ग्रेड में खिलाड़ियों को एक करोड़ रूपये की सालाना रिटेनरशिप दी जाती है।
अनुभवी सचिन तेंदुलकर, आलोचनाओं से घिरे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और फार्म से जूझ रही सलामी जोड़ी वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर तथा तेज गेंदबाज जहीर खान को ग्रेड ए अनुबंध में बरकरार रखा गया है।
फार्म में चल रहे विराट कोहली, मध्यक्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना और युवराज सिंह शीर्ष वर्ग के अन्य खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपना अनुबंध बरकरार रखा है। ग्रेड बी में बीसीसीआई ने आठ खिलाड़ियों को अनुबंध दिया है जो पिछले सत्र से तीन अधिक है और इसमें रोहित शर्मा ही एकमात्र बल्लेबाज हैं जिनका अनुबंध बरकरार रखा गया है।
वापसी करने वाले तेज गेंदबाज इरफान पठान को युवा खिलाड़ियों जैसे अंजिक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा और उमेश यादव के साथ सी ग्रेड में रखा गया है। बी ग्रेड के खिलाड़ियों को 50 लाख रुपये की सालाना रिटेनरशिप दी जाती है।
सी ग्रेड में रविंद्र जडेजा ने एस. श्रीसंत की जगह ली है। आल राउंडर यूसुफ पठान, तेज गेंदबाज एल. बालाजी और अशोक डिंडा को जयदेव उनादकट जैसे खिलाड़ियों की जगह रखा गया है। बीसीसीआई ने कुल 37 खिलाड़ियों को अनुबंध दिया है, जो पिछले साल के बराबर हैं। बीसीसीआई अनुबंधित खिलाड़ियों की सूची इस प्रकार है। ग्रेड ए : सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धोनी, जहीर खान, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर, सुरेश रैना, युवराज सिंह, विराट कोहली, आर अश्विन। ग्रेड बी : हरभजन सिंह, इशांत शर्मा, प्रज्ञान ओझा, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अंजिक्य रहाणे, इरफान पठान, उमेश यादव।
ग्रेड सी : रविंद्र जडेजा, अमित मिश्रा, विनय कुमार, मुनाफ पटेल, अभिमन्यु मिथुन, मुरली विजय, शिखर धवन, रिद्धिमान साहा, पार्थिव पटेल, मनोज तिवारी, एस बद्रीनाथ, पीयूष चावला, दिनेश कार्तिक, राहुल शर्मा, वरूण आरोन, अभिनव मुकुंद, अशोक डिंडा, यूसुफ पठान, प्रवीण कुमार और लक्ष्मीपति बालाजी।
गौर हो कि हरभजन और इशांत ने इस साल ज्यादातर समय टीम से बाहर बिताया है क्योंकि उन्हें जितने भी मौके दिए गए, वे उनमें जूझते रहे। छब्बीस वर्षीय अश्विन ने पिछले साल नवंबर में आगाज करने के बाद आठ टेस्ट मैच खेलते हुए 49 विकेट झटके। न्यूजीलैंड के खिलाफ हालिया घरेलू श्रृंखला में उन्होंने दो टेस्ट में 18 विकट चटकाए। वनडे में उन्होंने 40 मैचों में 56 विकेट प्राप्त किए हैं। चेन्नई के इस गेंदबाज के नाम 15 ट्वंेटी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 12 विकेट हैं।





comments powered by Disqus