चार जीन निर्धारित करती है स्मरणशक्ति

वैज्ञानिकों की ओर से किये गए दो अध्ययनों में यह बात सामने आयी है कि वयस्कों की स्मरणशक्ति चार तरह के जीनों से प्रभावित होती है।

वाशिंगटन : आठ देशों के 71 संस्थानों के 80 से अधिक वैज्ञानिकों की ओर से किये गए दो अध्ययनों में यह बात सामने आयी है कि वयस्कों की स्मरणशक्ति चार तरह के जीनों से प्रभावित होती है।

 

कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय के नेतृत्व में एक अंतरराष्ट्रीय दल ने कहा कि इन दोनों अध्ययनों से अल्जाइमर बीमारी के आनुवांशिक घटक और मस्तिष्क विकास की बेहतर समझ विकसित हो सकेगी। पहला अध्ययन नौ हजार से अधिक लोगों के आनुवांशिक विश्लेषण पर आधारित था। इसमें यह बात सामने आयी कि चार जीनों के कुछ रूप मस्तिष्क के उस हिस्से का संकुचित कर सकते हैं जो नये स्मरण बनाने में शामिल हों।

 

अनुसंधान में यह बात सामने आयी कि उम्र बढ़ने के साथ ही हिप्पोकैंपस नाम से जाने जाने वाला मस्तिष्क के एक हिस्से में संकुचन होने लगता है लेकिन यदि यह प्रक्रिया में तेजी आती है तो इससे अल्जाइमर बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। (एजेंसी)

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close