दिल की बीमारी के बारे में आगाह करेगा खून

Last Updated: Wednesday, August 15, 2012 - 09:28

डलास: अपने रक्त की प्रकृति को जानना बेहद जरूरी है क्योंकि अब चिकित्सकों ने संभावना जतायी है कि इससे भविष्य में दिल की बीमारी होने के खतरे का पूर्वानुमान लगाया जा सकता है ।
कल जारी शोध रिपोर्ट में बताया गया है कि ओ टाइप रक्त वालों के मुकाबले ए, बी या एबी रक्त वालों को दिल की बीमारी होने का खतरा कुछ अधिक रहता है ।
बोस्टन में हार्वर्ड स्कूल आफ पब्लिक हेल्थ के वरिष्ठ शोध रिपोर्ट लेखक डाक्टर लू क्वी ने बताया कि रक्त की प्रकृति का पता लगाकर जिन लोगों को दिल की बीमारी होने की आशंका है वे कुछ जरूरी उपाय कर इस खतरे की आशंका को समय रहते कम कर सकते हैं ।
क्वी ने कहा, ‘ हम रक्त की प्रकृति को नहीं बदल सकते लेकिन उसे जानकर अपनी जीवनशैली को जरूर बदल सकते हैं । ’ नए शोध में करीब 90 हजार पुरूष और महिलाओं को दो निगरानी वर्गों में 20 साल से अधिक समय तक रखा गया। इसमें दोनों वर्गों में 4070 लोगों को दिल की बीमारी हुई । शोधकर्ताओं ने उम्र के साथ साथ खानपान, मद्यपान, दिल की बीमारी के पारिवारिक इतिहास तथा कुछ अन्य कारकों को भी ध्यान में रखा।
शोध में पाया गया कि टाइप ए वालों को दिल की बीमारी का खतरा आठ फीसदी, टाइप बी को 11 फीसदी तथा टाइप एबी को 20 फीसदी रहा। (एजेंसी)





comments powered by Disqus