ईरान पर अंकुश के लिए चीन को मनाने में जुटा यूएस

Last Updated: Tuesday, June 12, 2012 - 12:48

वॉशिंगटन : ईरान से तेल आयात में कमी नहीं करने पर कड़े अमेरिकी प्रतिबंध की संभावनाओं के मद्देनजर वॉशिंगटन इस मुद्दे पर बीजिंग से वार्ता कर रहा है।
नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर ओबामा प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, चीन के साथ हमने वार्ता की। हम चीन के साथ लगातार बातचीत कर रहे हैं। ईरान से सबसे ज्यादा तेल चीन आयात करता है।
अमेरिका ने कल कहा था कि वह भारत एवं छह अन्य देशों को वित्तीय प्रतिबंधों में ढील देगा क्योंकि उन देशों ने ईरान से तेल खरीद में काफी कमी की ।
विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कल बयान जारी कर कहा था, भारत, मलेशिया, कोरिया, तुर्की, ताईवान, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका सब ने ईरान से तेल आयात में काफी कमी है। अधिकारी ने कहा, जैसा हमने कहा कि चीन के साथ विचार-विमर्श जारी है । अभी यह कहना जल्दबाजी होगा कि वार्ता कहां पहुंचेगी।
उन्होंने कहा, लेकिन चीन और अन्य देशों के ईरानी कच्चे तेल का आयातक होने के साथ ही हम यह भी देख रहे हैं कि कानून क्या कहता है और उसके सामाधान के लिए हम वार्ता कर रहे हैं। अधिकारी ने कहा कि चीन पी 5 प्लस वन प्रक्रिया में अत्यंत महत्वपूर्ण साझीदार है। उन्होंने कहा, चीन ने स्वयं चार अलग-अलग अवसरों पर ईरान पर प्रतिबंध के लिए वोट किया। (एजेंसी)



First Published: Tuesday, June 12, 2012 - 12:48


comments powered by Disqus