अफजल गुरु का कथित खत आया सामने!

Last Updated: Tuesday, February 26, 2013 - 17:23

श्रीनगर : संसद पर हमले के दोषी मोहम्मद अफजल गुरु ने चार वर्ष पहले कथित तौर पर लिखे अपने एक पत्र में कहा है कि संसद पर 13 दिसंबर के हमले के लिए शर्मिंदा होने की कोई जरुरत नहीं है। अफजल ने हालांकि इस हमले की कोई जिम्मेदारी नहीं ली है।
अफजल ने श्रीनगर के एक स्थानीय उर्दू साप्ताहिक को लिखे पत्र में हिजबुल मुजाहिद्दीन प्रमुख सैयद सलाउद्दीन से कहा है कि 13 दिसंबर के लिए शर्मिंदा नहीं हो और हमले को एक ‘षड्यंत्र’ करार देना बंद हो। उर्दू साप्ताहिक की संपादक शबनम कयूम ने कहा कि उन्हें अफजल के पत्र और लेख मिलते रहे हैं और उन्हें इस बात का पक्का विश्वास है कि यह पत्र उसके द्वारा ही लिखा गया था।
उन्होंने कहा कि मुझे उसके (अफजल के) पत्र और लेख मिलते थे, इसलिए यह कोई नई बात नहीं थी। इस पत्र की लिखावट भी पहले के पत्रों और लेखों जैसी ही है। मुझे इस बात की परवाह नहीं चाहे लोग इसे प्रामाणिक मानें या नहीं। (एजेंसी)



First Published: Tuesday, February 26, 2013 - 17:23


comments powered by Disqus