एफडीआई पर कांग्रेस संसदीय दल ने लगाई मुहर

Last Updated: Wednesday, November 30, 2011 - 04:02

ज़ी न्यूज ब्यूरो/एजेंसी
नई दिल्ली : एफडीआई को लेकर मंगलवार को हुई सर्वदलीय बैठक के बेनतीजा रहने और संसद के दोनों सदनों में छठे दिन भी गतिरोध बने रहने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस संसदीय दल की बैठक बुलाई जिसमें रिटेल सेक्टर में एफडीआई पर मुहर लगा दी गई। बैठक सुबह करीब 10 बजे शुरू हुई  जिसमें कांग्रेस के सभी सांसद मौजूद थे।

 

खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश पर विपक्ष और संप्रग सरकार के कुछ घटक दलों के भारी विरोध के बीच बुधवार को वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने कांग्रेस सांसदों के साथ बैठक की और उन्हें खुदरा क्षेत्र समेत अर्थव्यवस्था के विभिन्न पहलुओं से अवगत कराया और उनकी राय जानी। बैठक के बाद संसद भवन परिसर में विधि मंत्री सलमान खुर्शीद ने संवाददाताओं से कहा, ‘अर्थव्यवस्था के विभिन्न पहलुओं के बारे में कैबिनेट के सदस्यों के साथ बातचीत तो हमेशा हो जाती है, लेकिन पार्टी सदस्यों के साथ हमेशा चर्चा नहीं हो पाती हैं। इस संदर्भ में प्रणव ने सांसदों को अर्थव्यवस्था के विभिन्न पहलुओं, चुनौतियों, जटिलताओं और दूरगामी प्रभावों के बारे में जानकारी दी।’

 

खुर्शीद से पूछा गया था कि क्या एफडीआई के मुद्दे पर सरकार को अब कांग्रेस पार्टी और उसके सांसदों के विरोध का सामना करना पड़ा रहा है, उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस सांसदों के साथ प्रणव की बैठक को इस आइने में देखना ठीक नहीं है।’ उन्होंने कहा कि सरकार कांग्रेस नेतृत्व की है, निश्चित तौर पर यह गठबंधन सरकार है और इसके घटक दल हैं। सरकार और पार्टी का रूख एक है, इसी रूख के साथ हम विपक्ष तक पहुंच रहे हैं।

 

यह पूछे जाने पर कि क्या प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का यह कहना कि मल्टी ब्रांड खुदरा क्षेत्र में एफडीआई की अनुमति सोच समझ कर किया गया निर्णय है, इससे बातचीत पर असर नहीं पड़ेगा, खुर्शीद ने कहा, ‘सोच समझ कर किए गए निर्णय के बाद क्या बात नहीं होती है। शादी होने के बाद क्या पति-पत्नी में किसी विषय पर बातचीत नहीं होती है। खुर्शीद ने कहा कि संसद की कार्यवाही चले और इस विषय में गतिरोध को दूर करने के लिए विपक्ष के साथ बातचीत जारी है। इस समय वह कुछ नहीं कह सकते क्योंकि जब तक कोई समाधान सामने नहीं आता तब तक कुछ भी कहने से बात बिगड़ सकती है।

 

एफडीआई के विषय पर सरकार के पास संसद में बहुमत नहीं होने संबंधी विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज के बयान के बारे में पूछे जाने पर विधि मंत्री ने कहा, ‘सुषमा जी का यह कहना ठीक नहीं है। जो गिनती उन्हें आती है, वही गिनती हमें भी आती है।’

 

गौरतलब है कि खुदरा क्षेत्र में एफडीआई की अनुमति के मुद्दे पर संसद में जारी गतिरोध के बीच वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर इस बारे में उनसे विचार विमर्श किया। पार्टी सूत्रों ने बताया कि मुखर्जी और सोनिया गांधी में लगभग दस मिनट चर्चा हुई।



First Published: Wednesday, November 30, 2011 - 18:20


comments powered by Disqus