टीएमसी ने कांग्रेस को चेताया, यूपीए छोड़ने से इनकार

Last Updated: Tuesday, June 19, 2012 - 01:23

कोलकाता: राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के उम्मीदवार प्रणब मुखर्जी का अप्रत्यक्ष रूप से विरोध करने पर कांग्रेस की ओर से मुंह की खा चुकी तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को चेतावनी भरे अंदाज में कहा वह केंद्र सरकार से अलग नहीं हो रही है लेकिन यदि कांग्रेस को उसकी जरूरत नहीं है तो उसके सांसद इस्तीफे के साथ तैयार बैठे हैं।
तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को साफ किया कि केंद्र सरकार से उसके मंत्रियों के इस्तीफे देने की खबरों में तनिक भी सच्चाई नहीं है। उन्होंने साफ किया कि तृणमूल कांग्रेस का संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार को समर्थन जारी रहेगा, भले ही वह चाहे तो उनकी पार्टी को निकाल बाहर करे।
तृणमूल कांग्रेस के सांसदों व विधायकों की एक बैठक के बाद उसके वरिष्ठ नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि ऐसी खबरें चल रही हैं कि तृणमूल कांग्रेस के मंत्रियों ने केंद्र सरकार से इस्तीफा दे दिया है और अपने इस्तीफे ममता को सौंप दिए हैं। इन खबरों में तनिक भी सच्चाई नहीं है। हमारा इरादा सरकार गिराने का नहीं है। हां, हम उसके लिए मुश्किल नहीं बनेंगे।
बंदोपाध्याय ने कहा कि हमारे सांसद इस्तीफा देने को मानसिक रूप से तैयार हैं। जब भी ममता बनर्जी कहेंगी, सभी इस्तीफा दे देंगे। तृणमूल कांग्रेस नेता सुदीप बंधोपाध्याय ने कहा कि यूपीए सरकार से पार्टी के छह मंत्रियों की इस्तीफे की खबर गलत है और हम सरकार के साथ हैं।
उन्होंने कहा कि हम अभी भी चाहते हैं कि पूर्व राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम देश के राष्ट्रपति बनें। डा. कलाम सबसे योग्य उम्मीदवार हैं। राष्ट्रपति चुनाव में अभी भी समय बचा है। हम सही समय पर सही फैसला लेंगे। हमने फैसला ममता बनर्जी पर छोड़ दिया है। तृणमूल सुप्रीमो सही वक्तर पर फैसला लेंगी। हालांकि उन्हों ने यह भी कहा कि सभी मंत्री मानसिक रूप से इस्तीिफे के लिए तैयार हैं।



First Published: Tuesday, June 19, 2012 - 01:23


comments powered by Disqus