‘कालाधन रखने वालों के नाम सार्वजनिक हों’

Last Updated: Tuesday, November 1, 2011 - 16:14

नई दिल्ली : भाजपा ने मंगलवार को सरकार से मांग की कि वह उन सभी 700 लोगों के नाम सार्वजनिक करे जिन्होंने स्विट्जरलैंड की एक बैंक में कथित तौर पर कालाधन जमा कर रखा है। मुख्य विपक्षी दल ने यह भी मांग की कि सरकार कालेधन की समस्या से निपटने के लिए वर्ष 2009 से उठाए गए कदमों के बारे में भी वक्तव्य जारी करे।

 

भाजपा प्रवक्ता निर्मला सीतारमण ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘मीडिया के एक वर्ग ने आज जानकारी दी है कि जेनेवा के एचएसबीसी बैंक में भारत के करीब 700 लोगों ने कालाधन जमाकर कर रखा है, जिसकी राशि चार हजार करोड़ रुपये से अधिक हो सकती है। बताया जाता है कि केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने इस संबंध में तीन सांसदों सहित अन्य लोगों के परिसरों पर छापे मारे हैं।’ उन्होंने कहा कि यह बात काफी दिलचस्प है कि इसी संप्रग सरकार ने वर्ष 2009 में सत्ता में आने के बाद वादा किया था वह विदेशों में जमा कालेधन को वापस लाने के लिए 100 दिन के भीतर ठोस कदम उठाएगी।

 

निर्मला ने कहा कि इसके बावजूद सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाए। सुप्रीम कोर्ट के दबाव में भी उसने कालाधन रखने वालों की आधी सूची ही अदालत में सौंपी। यह दर्शाता है कि कांग्रेस नीत सरकार आधे-अधूरे मन से कालेधन के मसले से निपट रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है कि सरकार इन सभी 700 लोगों के नाम सार्वजनिक करे और कुछ चुनिंदा लोगों के नामों का ही खुलासा नहीं करे क्योंकि अगर सरकार ऐसा करेगी तो इससे उसके खिलाफ ही सवाल खड़े होंगे।

(एजेंसी)



First Published: Tuesday, November 1, 2011 - 21:44


comments powered by Disqus