25 जनवरी को बनेंगे 90 लाख युवा वोटर

देशभर में लोगों और खासकर युवाओं को चुनाव प्रणाली के साथ जोड़ने के उद्देश्य के साथ 25 जनवरी को पूरे देश में ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ मनाया जायेगा ।

अंतिम अपडेट: Jan 17, 2013, 01:35 PM IST

नई दिल्ली: देशभर में लोगों और खासकर युवाओं को चुनाव प्रणाली के साथ जोड़ने के उद्देश्य के साथ 25 जनवरी को पूरे देश में ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ मनाया जायेगा और 18 से 19 साल के तकरीबन 90 लाख युवाओं को नये मतदाता के रूप में शामिल किया जायेगा ।
चुनाव आयोग ने योग्य मतदाताओं और खासकर युवाओं को चुनाव प्रणाली से जोड़ने के उद्देश्य से इस अभियान की शुरूआत की है । आयोग के सूत्रों के मुताबिक इस साल एक जनवरी की तिथि के अनुसार देशभर में मतदाता सूची के पुनरीक्षण के दौरान तकरीबन ढाई करोड़ से ज्यादा नये मतदाता बनाये गये हैं । इनमें से 90 लाख मतदाता 18 से 19 साल के युवा हैं । कई राज्यों में संशोधित मतदाता सूची प्रकाशित हो चुकी है, जबकि बाकि जगहों पर इसके 25 जनवरी तक प्रकाशित हो जाने की उम्मीद है।
वर्ष 2011 में पहले राष्ट्रीय मतदाता दिवस के मौके पर 18 से 19 वर्ष के 52 लाख मतदाताओं को देश की मतदाता सूची में शामिल किया गया था, जबकि 2012 में यह संख्या एक करोड़ दस लाख थी ।
चुनाव आयोग में महानिदेशक अक्षय राउत ने कहा कि पूरे देश के योग्य मतदाताओं को चुनाव प्रणाली के साथ जोड़ने का यह ‘महाप्रयास’ है । चुनाव आयोग ने यह प्रयास तब शुरू किया जब उसने महसूस किया कि देश का युवा वर्ग चुनाव प्रक्रिया में बढ चढ कर हिस्सा नहीं लेता ।
राउत ने कहा कि चुनाव प्रक्रिया में युवाओं की कम हिस्सेदारी के कारणों की तह में जाने पर पता चला कि 18 से 19 वर्ष के मतददाताओं का पंजीकरण मात्र दस से पंद्रह प्रतिशत है । यानी एक जनवरी को इस उम्र वर्ग में जितने बच्चे आते हैं उनमें से मात्र दस से पंद्रह फीसदी बच्चे ही मतदाता के रूप में पंजीकृत होते हैं । उन्होंने कहा कि आज यह संख्या करीब 35 से 40 फीसदी तक पहुंची है । नये मतदाताओं को जोड़ने की दिशा में यह एक बड़ी छलांग हैं । आने वाले समय में इस आंकड़े में और तेजी से इजाफा होने की उम्मीद है ।’’
राष्ट्रीय मतदाता दिवस के मौके पर देश के करीब सात लाख स्थानों पर आयोजित समारोहों में 18 से 19 साल के इन नये युवा मतदाताओं को मतदाता फोटो पहचान पत्र देकर सम्मानित किया जायेगा और साथ ही उन्हें एक बैज दिया जायेगा जिसपर लिखा होगा ‘‘मतदाता होने पर गर्व, मतदान के लिए तैयार’’ । इन युवाओं को मतदाता के रूप में संकल्प भी दिलाया जायेगा ।
भारत के निर्वाचन आयोग की स्थापना दिवस को देशभर में मतदाता दिवस के रूप में मनाने की परंपरा 2011 में शुरू की गई थी और इस प्रकार इस साल तीसरा राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जा रहा है ।
मुख्य समारोह राजधानी दिल्ली में होगा, जिसमें मुख्य चुनाव आयुक्त तथा दोनों चुनाव आयुक्त सहित चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारी हिस्सा लेंगे । इस समारोह में सर्वश्रेष्ठ चुनावी कार्य प्रणाली अपनाने वाले चार अधिकारियों को राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया जायेगा । (एजेंसी)